राजस्थान में गहलोत मंत्रिमंडल के विभागों का हुआ बंटवारा, CM ने अपने पास रखें 10 विभाग, देखें किसको क्या मिला

 
CM ASHOK GEHALOT

जयपुर। राजस्थान में अशोक गहलोत मंत्रिमंडल में फेरबदल के बाद सोमवार दोपहर मंत्रियों के विभागों का बंटवारा कर दिया गया है। शांति धारीवाल के पास यूडीएच, ससंदीय कार्य, लीगल सहित सभी विभाग पहले की तरह बरकरार रखे गए हैं।

विभाग बंटवारे में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अब भी 10 विभाग अपने पास रखे हैं। पहले 11 विभाग थे। इसमे से आबकारी छोड़ दिया है, जबकि सूचना जनसंपर्क विभाग ले लिया है। अब भी सीएम के पास वित्त, टैक्सेशन, गृह और न्याय, कार्मिक, आईटी, सामान्य प्रशासन, कैबिनेट सचिवालय, एनआरआई, राजस्थान स्टेट इंवेस्टिगेशन ब्यूरो और सूचना जनसंपर्क विभाग हैं।

पुराने 5 कैबिनेट मंत्रियों, राज्य मंत्री से प्रमोट होकर कैबिनेट मंत्री बनी ममता भूपेश और 2 राज्य मंत्रियों के विभाग बरकरार रखे हैं। शांति धारीवाल के पास यूडीएच, ससंदीय कार्य, लालचंद कटारिया के पास कृषि, प्रमोद जैन भाया के पास खान गोपालन, उदयलाल आंजना के पास सहकारिता, शाले मोहम्मद के पास अल्पसंख्यक कल्याण विभाग बरकरार रखा है। राज्य मंत्री से प्रमोट होकर कैबिनेट मंत्री बनीं ममता भूपेश के पास महिला बाल विकास विभाग पहले के ही तरह हैं। राज्य मंत्री अशोक चांदना के पास खेल, युवा मामले के साथ सूचना जनसंपर्क विभाग नया जोड़ा है। सुभाष गर्ग के पास तकनीकी शिक्षा, आयुर्वेद बरकरार रखकर दो विभाग नए जोड़े हैं।

तीन पुराने कैबिनेट मंत्रियों और राज्य मंत्री से कैबिनेट प्रमोट हुए दो मंत्रियों को मिलाकर 5 कैबिनेट मंत्रियों के विभाग बदले हैं। बीडी कल्ला से ऊर्जा, पीएचईडी लेकर उसकी जगह शिक्षा, प्रतापसिंह खाचरियावास को परिवहन की जगह खाद्य विभाग, परसादीलाल मीणा को उद्योग की जगह स्वास्थ्य विभाग दिया है।
राज्य मंत्री से प्रमोट होकर कैबिनेट मंत्री बने टीकाराम जुली को श्रम विभाग की जगह सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग और भजनलाल जाटव को होम गार्ड की जगह पीडब्ल्यूडी जैसा बड़ा विभाग दिया है।

राज्य मंत्रियों में भंवर सिंह भाटी, राजेंद यादव, सुखराम बिश्नोई के विभाग बदले गए हैं। भाटी को उच्च शिक्षा की जगह ऊर्जा स्वतंत्र प्रभार, जल संसाधन और आईजीएनपी (इंदिरा गांधी नहर परियोजना) दिया है। सुखराम बिश्नोई को वन विभाग की जगह श्रम और राजस्व विभाग दिया है।
पिछले साल सचिन पायलट कैंप की बगावत के बाद मंत्री पद से बर्खास्त हुए विश्वेंद्र सिंह को वापस वही विभाग दिया गया है। विश्वेंद्र सिंह को पर्यटन विभाग और सिविल एविएशन विभाग दिया है। पहले भी उनके पास पर्यटन विभाग ही था।

जानें कौन से मंत्री को मिली किस विभाग की जिम्मेदारी
बी डी कल्ला           -    शिक्षा मंत्री
शांति धारीवाल        -    नगरीय विकास मंत्री
हेमराम चौधरी        -    वन व पर्यावरण मंत्री
प्रमोद जैन भाया     -    खान मंत्री
महेश जोशी          -    जलदाय विभाग मंत्री
रामलाल जाट        -    राजस्व मंत्री
लालचंद कटारिया    -  कृषि मंत्री
परसादी लाल मीणा  -   चिकित्सा मंत्री
भजन लाल जाटव   -    सार्वजनिक निर्माण मंत्री
उदयलाल आंजना   -    सहकारिता मंत्री
सालेह मोह्मद        -    अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री
शंकुतला रावत     -     उद्योग मंत्री
प्रताप खाचरियावास -  फूड एंड सिविल सप्लाई
महेंद्रजीत सिंह मालवीय - जल संसाधन मंत्री
महेश जोशी        -         पीएचईडी मंत्री
रमेश मीणा        -          पंचायत राज एंव ग्रामीण विकास मंत्री
विश्वेंद्र सिंह        -           पर्यटन मंत्री
ममता भूपेश      -          महिला एंव बाल विकास मंत्री
टीकाराम जूली   -          सामाजिक न्याय एंव अधिकारिता मंत्री
गोविंद राम मेघवाल -       आपदा राहत मंत्री
राज्य मंत्री
अर्जुन राम बामनिया  -     जनजाति विकास विाग
अशोक चांदना         -     खेल एंव युवा मामलों के मंत्री
भंवर सिंह भाटी       -      उर्जा मंत्री
राजेंद्र यादव           -      उच्च शिक्षा मंत्री
सुभाष गर्ग             -      तकनीकी शिक्षा मंत्री
सुखराम विश्नोई      -       श्रम मंत्री
बृजेंद्र ओला          -       परिवहन मंत्री
राजेद्र गुढा           -       सैनिक कल्याण मंत्री
मुरारी लाल मीणा   -      कृषि विपण राज्य मंत्री
जहिदा खान        -      विज्ञान व तकनीकी स्वतंत्र प्रभार, शिक्षा, कलासंस्कृति राज्य मंत्री