मुख्यमंत्री गहलोत ने मंजूर किया 3 मंत्रियों का इस्तीफा, कल शाम 4 बजे राजस्थान में नई कैबिनेट का शपथ ग्रहण

आज शाम 5 बजे कैबिनेट की बैठक- लिए जा सकते है सभी मंत्रियों इस्तीफे 
 
मुख्यमंत्री गहलोत ने मंजूर किया 3 मंत्रियों का इस्तीफा

जयपुर। राजस्थान की अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली सरकार के तीन मंत्रियों ने कल मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने तीनों मंत्रियों के इस्तीफे स्वीकार कर लिए हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज शाम को राज्यपाल से मुलाकात कर सकते हैं। इन सबके बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री निवास पर अजय माकन और अशोक गहलोत की बैठक जारी है। राजस्थान कांग्रेस के सूत्रों के अनुसार कल शाम 4 बजे राजस्थान मंत्रिमंडल का पुनर्गठन हो सकता है। इससे पहले आज शाम 5 बजे मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई गई है। माना जा रहा है कि इस बैठक में सभी मंत्रियों से इस्तीफे लिए जा सकते है।

मंत्रीपद से इस्तीफा देने वाले राजस्थान के मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा है कि एक पद एक व्यक्ति की पार्टी परंपरा और अनुशासन का ख्याल रखते हुए हम लोगों ने इस्तीफा पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को दिया है। इसके बाद आज शाम 5 बजे कैबिनेट की मीटिंग है। 

माना जा रहा है कि सीएम गहलोत की ओर से शाम को बुलाई गई कैबिनेट मीटिंग में सभी मंत्रियों के इस्तीफे लिए जा सकते हैं। इसके बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राज्यपाल के जयपुर आ जाने पर उनसे मिलने जाएंगे। बताया जा रहा है कि राज्यपाल इस समय जयपुर में नहीं हैं। अगर ऐसा हुआ तो 21 नवंबर को अशोक गहलोत के मंत्रिमंडल का पुनर्गठन हो सकता है।

राजस्थान में कैबिनेट पुनर्गठन के बाद रविवार शाम 4 बजे नए मंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह होगा। शपथ ग्रहण को लेकर राजभवन में तैयारियां शुरू हो गई हैं। हालांकि, अब तक यह तय नहीं हुआ है कि कौन-कौन नए चेहरे मंत्रिमंडल में शामिल होंगे, लेकिन बड़ी संख्या में कांग्रेस विधायकों का राजधानी जयपुर में पहुंचने का सिलसिला शुक्रवार शाम से ही जारी है।

बताया जा रहा है कि आज शाम होने वाली कैबिनेट की बैठक के बाद एक साथ सभी मंत्रियों के इस्तीफे ले लिए जाएंगे। उसके बाद नए नामों के साथ नई कैबिनेट बनाई जाएगी। सबका शपथ कल राजभवन में होगा। राजभवन में टेंट लगाने का काम तेजी से चल रहा है, तो वहीं सचिवालय में नए मंत्रियों के लिए कमरे तलाशे जा रहे हैं। मोटर गैराज में भी नई गाड़ियों की व्यवस्था की जा रही है। यह सब तैयारियां इस बात की ओर स्पष्ट इशारा कर रही है कि लंबे समय से चल रही सियासी उठापटक के बीच मंत्रिमंडल पुनर्गठन का वक्त आ गया है।

एक पद के सिद्धांत के चलते शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा, राजस्व मंत्री हरीश चौधरी और चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने अपना इस्तीफा सौंप दिया है। इसके साथ ही इन तीनों मंत्रियों के इस्तीफे को स्वीकार भी कर लिया गया है। मंत्रियों ने अपनी गाड़ियों को मोटर गैराज में जमा करा दिया है। यह माना जा रहा है कि आज शाम मंत्रिपरिषद की बैठक में सीएम अशोक गहलोत मंत्रियों से इस्तीफा ले सकते हैं। 

पिछले दिनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सभी प्रभारी मंत्रियों की रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश सामान्य प्रशासन विभाग को दिए थे। सामान्य प्रशासन विभाग ने प्रभारी मंत्रियों का रिपोर्ट कार्ड तैयार किया था कि किस मंत्री ने कितनी बार अपने प्रभार जिले में दौरा किया। इस तरह से उन्होंने सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को आम जनता तक पहुंचाने में मदद की। माना जा रहा है कि इसी रिपोर्ट के आधार पर कई मंत्रियों की छुट्टी भी हो सकती है।