उपचुनाव के लिए भाजपा-कांग्रेस ने वल्लभनगर-धरियावाद सीट पर घोषित किए प्रत्याशी, 30 को होगा चुनाव

 
congress vs bjp

जयपुर। वल्लभ नगर और धरियावाद सीट पर होने वाले विधानसभा उपचुनाव के लिए भाजपा-कांग्रेस ने उम्मीदवार की घोषणा कर दी है। गुरुवार सुबह पहले भाजपा ने वल्लभ नगर से हिम्मत सिंह झाला और धरियावद से खेत सिंह मीणा के नाम की घोषणा की। इसके बाद कांग्रेस ने भी दोनों सीटों के लिए उम्मीदवार घोषित कर दिए। वल्लभ नगर से प्रीति शक्तावत और धरियावद से नगराज मीणा को मैदान में उतारा है। इन दोनों सीटों पर 30 अक्टूबर को चुनाव होने है और 8 अक्टूबर को नामांकन की अंतिम तिथि है।

भाजपा ने धरियावद में दिवंगत विधायक गौतम लाल मीणा के परिवार से किसी को टिकट नहीं दिया है। गौतम मीणा के परिवार से कन्हैयालाल मीणा प्रबल दावेदार थे। भाजपा ने दिवंगत विधायक के परिवार से किसी को टिकट नहीं देकर नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया के समर्थक खेत सिंह मीणा को टिकट दिया है। इसी तरह कांग्रेस ने दिवंगत कांग्रेस विधायक गजेंद्र सिंह शक्तावत की पत्नी प्रीति शक्तावत को मैदान में उतारा है। यहां से गजेंद्र सिंह के भाई भी टिकट की दावेदारी कर रहे थे। लेकिन कांग्रेस ने सहानुभूति फैक्टर का फायदा लेने के लिए प्रीति को वल्लभ नगर से उम्मीदवार बनाया है।

भाजपा ने वल्लभ नगर में हिम्मत सिंह झाला को टिकट देकर भाजपा ने नया दांव चला है। यहां भारी विवाद के बाद टिकट तय हुआ है। पहले यहां से पूर्व विधायक रणधीर सिंह भींडर की पत्नी को टिकट देने की चर्चा थी, लेकिन कटारिया के विरोध के कारण उन्हें टिकट नहीं दिया। अब भींडर की पत्नी भी निर्दलीय चुनाव मैदान में हैं, इस वजह से वल्लभ नगर में त्रिकोणीय मुकाबला तय है। वल्लभनगर सीट कांग्रेस विधायक गजेंद्र सिंह शक्तावत के जनवरी में कोरोना से निधन के कारण खाली हुई थी। गजेंद्र सिंह शक्तावत सचिन पायलट खेमे के विधायक थे। अब एक बार फिर शक्तावत परिवार से टिकट देकर कांग्रेस ने सियासी समीकरण साधने और सहानुभूति लहर का फायदा उठाने का प्रयास किया है।