ED ऑफिस में सोनिया गांधी से दो घंटे पुछताछ, अब 25 जुलाई को फिर से बुलाया, 75 सांसद सहित कई नेता हिरासत में

- गहलोत बोले- सरकार को शर्म आनी चाहिए
- लोकतंत्र को कुचला जा रहा है- सचिन पायलट
- कांग्रेस देश भर में कर रही है विरोध प्रदर्शन 
 
Two hours interrogation of Sonia Gandhi in ED office, now called again on July 25, many leaders including 75 MPs in custody

नई दिल्ली। नेशनल हेराल्ड केस में EDने राहुल गांधी के बाद आज गुरूवार को सोनिया गांधी को पूछताछ के लिए बुलाया गया था। मामले को लेकर कांग्रेस देश भर में विरोध प्रदर्शन कर रही है। इधर ED ऑफिस जाने से पहले सोनिया गांधी ने कहा कि मैं इंदिरा गांधी की बहू हूं किसी से नहीं डरती। साथ ही सोनिया गांधी की तरफ से ED से पूछताछ के दौरान बेटी प्रियंका गांधी को साथ रखने की अपील की गयी थी। करीब दो घंटे की पूछताछ के बाद ED ने सोनिया गांधी के अनुरोध पर आज का सत्र खत्म कर दिया, कांग्रेस नेता हाल ही में कोविड से उबरी हैं। ED ने अब 25 जुलाई को फिर से बुलाया है।

Two hours interrogation of Sonia Gandhi in ED office, now called again on July 25, many leaders including 75 MPs in custody

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कार को किया आग के हवाले
कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को म्क् द्वारा समन किये जाने पर बेंगलुरु में युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने म्क् कार्यालय के सामने प्रदर्शन करते हुए एक कार को आग के हवाले कर दिया।

Two hours interrogation of Sonia Gandhi in ED office, now called again on July 25, many leaders including 75 MPs in custody

कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर वाटर कैनन का इस्तेमाल, 75 सांसद हिरासत में
नेशनल हेराल्ड मामले में पार्टी कि अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ ईडी की जांच का विरोध कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर वाटर कैनन का इस्तेमाल किया गया। वहीं 75 सांसदों को हिरासत में लिया गया है।


कई बड़े नेता हिरासत में
सोनिया गांधी से ईडी की पूछताछ का विरोध करने वाले कई बड़े नेताओं को हिरासत में लिया गया हैं। इनमें अशोक गहलोत, शशि थरूर और सचिन पायलट, मंत्री जाहिदा खान का नाम शामिल है।

Two hours interrogation of Sonia Gandhi in ED office, now called again on July 25, many leaders including 75 MPs in custody

इस बीच AICC में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पत्रकार वार्ता की। गहलोत ने कहा कि पहले ED ने राहुल गांधी को बुलाया और 50 घंटे पूछताछ की। अब सोनिया गांधी को बुलाया। दुनिया जानती है कि सोनिया गांधी त्याग की मूर्ति हैं। जिन्होने प्रधानमंत्री का पद ठुकरा दिया था, जिसने इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की शहादत देखी हो ऐसी महिला को परेशान किया जा रहा है। सरकार को शर्म आनी चाहिए।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि इस उम्र में सोनिया गांधी को पूछताछ के लिए बुलाया जा रहा है, अगर कुछ पूछना था तो उम्र और सेहत के हिसाब से घर जाकर पूछ सकते थे। एक ऐसे केस में पूछताछ हो रही है जिसमें कोई मनी लॉंड्रिंग जैसा कुछ नहीं हुआ।

ED को चाहिए की प्रेस कॉंफ्रेंस करें और बताए कि किस मुद्दे पर पूछताछ कर रहे हैं। देश की तमाम संवैधानिक संस्थाओं का दुरुपयोग किया जा रहा है। इनकी तरह पिछली सरकारों ने किया होता तो आज इतना समृद्ध देश नहीं बनता।

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि इन लोगों ने देश के सौहार्दपूर्ण माहौल को खराब करके साम्प्रदायिकता की ओर धकेल दिया है। ये लोग विपक्ष को दुश्मन मानते है। राजनीति विचार धाराओं की लड़ाई होती है, कोई दुश्मनी का भाव नहीं होना चाहिए। एजेंसियों के माध्यम से चुनी हुई सरकारों को गिराया जा रहा है।

सीएम गहलोत ने कहा कि देश में बेरोजगारी चरम पर है। डॉलर 80 पार हो गया, महंगाई आसमान छू रही। इसको ठीक करने की बजाय विपक्ष को खत्म करने ताकत लगा रहे हैं। 75 साल की उपलब्धियों के लिए नाम अमृत महोत्सव देकर माहौल बनाया जा रहा है, लेकिन 75 की उपलब्धियों को वास्तव में दिखाना चाहिए। लेकिन ये सरकार अपना एजेंडा चलाने के लिए इस्तेमाल कर रही है। 

Two hours interrogation of Sonia Gandhi in ED office, now called again on July 25, many leaders including 75 MPs in custody

सीएम गहलोत ने कहा कि कांग्रेस देश की जनता को जागरूक कर रही है, इसलिए टार्गेट करके म्क् लगा दी गयी। गांधी परिवार को ही क्यों टार्गेट किया जा रहा है। जिस परिवार ने देश निर्माण में बड़ा योगदान दिया और परिवार के लोग देश के लिए शहीद हो गए। इस परिवार की विश्वसनीयता है। सोनिया गांधी ने इटली से आकर देश की संस्कृति को आत्मसात किया है। इसलिए देश की महिलाएं सोनिया गांधी को आदर्श मानती हैं। देश में बड़ी चिन्ताजनक स्थिति है, हमारा कर्तव्य है बुरे हालात से देश को बचाएं।

गहलतो ने कहा कि सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ कांग्रेस आवाज उठा रही है। जनता को उनके मुद्दों के प्रति जागरूक कर रही है। सीएम गहलोत ने सोनिया गांधी से ED की पूछताछ की भर्त्सना की और कहा कि देश भर में कांग्रेस विरोध कर रही है।

लोकतंत्र को कुचला जा रहा है- सचिन पायलट
सोनिया गांधी के खिलाफ ईडी की जांच का विरोध करने पर कांग्रेस नेता सचिन पायलट को हिरासत में लिया गया। उन्होंने कहा कि देश में एजेंसियों का दुरुपयोग हो रहा है। लोकतंत्र में विरोध करना हमारा अधिकार है, लेकिन इसे कुचला भी जा रहा है।

इधर जयपुर में बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ त्ज्क्ब् चेयरमैन धर्मेंद्र राठौड़ और पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा सहित कई नेताओं ने ईडी के दफ्तर के बाहर धरना दिया हैं। धरना स्थल पर मंत्री प्रताप सिंह, परसादी लाल मीणा, भंवरसिंह भाटी, रामलाल जाट, गोविंद मेघवाल, प्रमोद जैन भाया भी मौजूद हैं। इनके साथ ही यूथ कांग्रेस अध्यक्ष गणेश घोगरा, पवन गोदारा, पुष्पेंद्र भारद्वाज, कृष्णा पूनिया, नमोनारायण मीणा भी धरने में मौजूद हैं।