राजस्थान : पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की मांग तेज, कांग्रेस विधायक बोले, इसे आप रोक नहीं सकते

 
Rajasthan: Demand to make Pilot the Chief Minister intensified, Congress MLA said, you cannot stop it

जयपुर । राजस्थान के पुर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट का 7 सितंबर को जन्मदिन (Former Deputy Chief Minister of Rajasthan Sachin Pilot's birthday on 7th September) है। उससे पहले सचिन पायलट के समर्थक मुखर हो रहे है, जिससे कांग्रेस पार्टी की अंदूरूनी गुटबाजी खुलकर सामने आ रही है। अब कांग्रेस विधायक एससी आयोग के चेयरमेन खिलाड़ीलाल बैरवा (Congress MLA: SC Commission Chairman Khiladi Lal Bairwa) के एक बयान ने फिर से प्रदेश कि राजनिति में भूचाल ला दिया है। तो उसकी रही सही कसर चाकसू विधायक वेद प्रकाश सौलंकी ने पूरी कर दी है। विधायक खिलाड़ी लाल बैरवा और डस्। वेद प्रकाश सौलंकी इससे पहले भी ऐसे बयान दे चुके है।

सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की मांग
राजस्थान में कांग्रेस पार्टी के विधायकों के बीच ही सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की मांग तेज हो गई है। विधायक खिलाड़ीलाल बैरवा ने कहा कि राजस्थान में हमेशा ही मेवाड़, मारवाड़ और पश्चिमी राजस्थान से मुख्यमंत्री बनता है। ऐसे में इस बार पूर्वी राजस्थान से ही मुख्यमंत्री बनना चाहिए। इधर चाकसू विधायक वेद प्रकाश सोलंकी ने कहा कि प्रदेश की जनता और युवाओं की मांग है कि सचिन पायलट मुख्यमंत्री बने। सोलंकी ने कहा कि 36 कोम के लोग चाहते है कि सचिन पायलट मुख्यमंत्री बने, लोग जो चाहते है वो होकर रहता है। आज नहीं तो कल होगा, लेकिन जो होना है उसे टाला नहीं जा सकता। 

राजनीतिक नियुक्तियों पर भी उठ रहे सवाल
राजस्थान युवा कांग्रेस में नियुक्तियों पर सवाल उठ रहे है। राजस्थान युवा बोर्ड अध्यक्ष और युवा कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव सीताराम लाम्बा ने ट्वीट करते हुए कहा कि क्या यही भारतीय युवा कांग्रेस का आंतरिक लोकतंत्र बचा है। जो युवा कांग्रेस का सदस्य भी नहीं है, वो बिना संगठन चुनाव के सीधे प्रदेश के वरिष्ठ उपाध्यक्ष बनाए गए है। सीताराम लांबा ने यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीवी श्रीनिवास और कृष्णा अल्लावारू से नियुक्तियों पर पुनर्विचार करने की मांग की है। 

आपको बता दें, सचिन पायलट और अशोक गहलोत समर्थक नेता वक्त वक्त पर बयानबाजी कर राजस्थान कांग्रेस की गुटबाजी को सड़क पर ले आते है। पिछले कई दिनों से अशोक गहलोत को कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की मीडिया में चर्चाएं चली, तो सचिन पायलट समर्थक भी सक्रिय हो गए। पायलट समर्थकों ने उनको मुख्यमंत्री पद देने की मांग को तेज कर दिया। चाकसू विधायक वेद प्रकाश सोलंकी तो ये तक कह चुके है कि वो पार्टी के साथ नहीं, सचिन पायलट के साथ है।