सचिन पायलट और सोनिया गांधी में एक घंटे हुई बातचीत, सत्ता व संगठन में मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी

 
One hour conversation between Sachin Pilot and Sonia Gandhi, big responsibility can be found in power and organization

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता सचिन पायलट (Congress leader Sachin Pilot) ने गुरूवार को दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात (Meeting with Sonia Gandhi in Delhi) की है। दोनों नेताओं के बीच करीब एक घंटे तक हुई बातचीत (The talks between the two leaders lasted for about an hour.) में कई मुद्दों पर चर्चा की। यह मुलाकात सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ पर हुई (The meeting took place at 10 Janpath, the residence of Sonia Gandhi.) है। 

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने के बाद सचिन पायलट ने कहा कि जिस प्रकार की दमनकारी नीतियां केंद्र की ओर से अपनाई जा रही हैं उसको देखते हुए राजस्थान में क्या कुछ राजनीतिक रणनीति अपनाई जाए उसको लेकर मैंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना फीडबैक दिया। प्रशांत किशोर के मसले पर सचिन पायलट ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने एक फीडबैक कमेटी बनाई है। उसके आधार पर कांग्रेस पार्टी काम कर रही है और जल्द ही आगे इस पर निर्णय लेगी।

वहीं, सचिन पायलट की पार्टी में भूमिका को लेकर उन्होंने कहा कि 22-23 साल के राजनीतिक करियर में पार्टी ने दिल्ली में, राजस्थान में जो भी जिम्मेदारी दी उसको निभाया है और आगे भी निभाते रहेंगे। हालांकि राजस्थान मेरा गृह राज्य है हम सबको मिलकर काम करना है 2023 में राजस्थान में कांग्रेस सरकार रिपीट करेंगे।

उन्होंने आगे कहा कि राजस्थान एक ऐसा राज्य है, जहां हर 5 साल में सरकार बदलती है और मुझे लगता है कि अगर हम सही काम करते हैं, जैसे हमने करना शुरू कर दिया है, तो हमें उस दिशा में आगे बढ़ने की जरूरत है, ताकि कांग्रेस अगले राजस्थान चुनाव जीत सके। आम चुनाव होने के तुरंत बाद यह महत्वपूर्ण है, कांग्रेस अध्यक्ष बहुत उत्सुक हैं कि हम सभी राजस्थान में फिर से सरकार बनाने के लिए एकजुट होकर काम करें। मैं उसपर नियमित रूप से अपनी प्रतिक्रिया देता रहा हूं। पायलट ने कहा कि आज हमने संगठनात्मक चुनावों के बारे में भी बात की, पार्टी को कैसे मजबूत किया जाए उसके बारे में भी बात हुई है।