Nav Sankalp Chintan Shivir : पार्टी ने हम सभी को बहुत कुछ दिया है, अब समय है कर्ज उतारने का- सोनिया गांधी

 
Nav Sankalp Chintan Shivir: Party has given a lot to all of us, now is the time to pay off debts - Sonia Gandhi

उदयपुर। कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी (Congress National President Sonia Gandhi) ने शुक्रवार को उदयपुर में कांग्रेस के तीन दिवसीय (Three days of Congress in Udaipur) नव संकल्प चिंतन शिविर (Nav Sankalp Chintan Shivir) का उद्घाटन सत्र के दोरान अपने भाषण में सोनिया ने नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला (Sonia attacked the Narendra Modi government fiercely)। उन्होंने कहा कि मोदी और उनके साथियों का मंत्र है मिनिमम गवर्नमेंट मैक्जिमम गवर्नमेंट और इसका मतलब है कि देश को धुर्वीकरण की स्थायी स्थिति में रखना। अल्पसंख्यकों के प्रति क्रूरता दिखाना और राजनीतिक विरोधियों को धमकाना। जवाहरलाल नेहरू समेत अन्य नेताओं के योगदान, त्याग और उपलब्धियों को भुलाया जा रहा है। महात्मा गांधी के हत्यारों को महिमामंडित किया जा रहा है। 

Nav Sankalp Chintan Shivir: Party has given a lot to all of us, now is the time to pay off debts - Sonia Gandhi

सोनिया ने इस अवसर पर पार्टी के प्रतिनिधियों को खुले दिमाग से बातचीत करने और मजबूत संगठन व एकता का साफ संदेश जनता तक ले जाने की अपील की। उन्होंने कहा कि शिविर एक अवसर है, जब हम भाजपा और आरएसएस के सहयोगी संगठनों की नीतियों की वजह से देश के सामने आई चुनौतियों पर, राष्ट्रीय चुनौतियों पर चिंतन और हमारे पार्टी संगठन पर सार्थक आत्मचिंतन करें। उन्होंने यह भी कहा कि यह हमारे सामने आ रही चुनौतियों से निपटने और संगठनात्मक बदलावों को लागू करने का अवसर है। शिविर में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी सहित करीब 430 कांग्रेसजन भाग ले रहे हैं।

Nav Sankalp Chintan Shivir: Party has given a lot to all of us, now is the time to pay off debts - Sonia Gandhi

 गांधी ने कहा कि यह दर्दनाक रूप से साफ हो चुका है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके सहयोगियों के बार-बार बोले जाने वाले मैक्जिमम गवर्नमेंट, मिनिमम गवर्नमेंट के जुमले का आशय क्या है। इसका मतलब है कि देश को धुर्वीकरण की स्थायी अवस्था में बनाए रखना। लोगों को लगातार डर और असुरक्षा के माहौल में रखना। इसका मतलब है कि अल्पसंख्यकों पर क्रूरता करना और उनके साथ अत्याचार करना, जो हमारे समाज का अभिन्न हिस्सा है और हमारे गणराज्य के बराबरी से नागरिक हैं। इसका मतलब है कि हमारी सदियों पुरानी बहुलतावाद का इस्तेमाल कर हमें बांटना और एकता और विविधता के सावधानीपूर्वक बनाए गए ताने-बाने को ध्वस्त करना। इसका मतलब है कि राजनीतिक विरोधियों को धमकाना और उनकी प्रतिष्ठा को धूमिल करना। उन्हें जेल में डालना और इसके लिए जांच एजेंसियों का दुरुपयोग करना। संवैधानिक संस्थाओं को अवमूल्यन हो रहा है। 

Nav Sankalp Chintan Shivir: Party has given a lot to all of us, now is the time to pay off debts - Sonia Gandhi

अब समय है कर्ज उतारने का

सोनिया ने यह भी कहा कि हमें सुधारों की सख्त जरूरत है। असाधारण परिस्थितियों का मुकाबला असाधारण तरीके से ही किया जा सकता है। इस बात के प्रति मैं पूरी तरह सचेत हूं। हर संगठन को न केवल जीवित रहने के लिए बल्कि बढ़ने के लिए भी समय-समय पर अपने अंदर परिवर्तन लाने होते हैं। रणनीति में बदलाव, सुधार और रोजाना काम करने के तरीके में परिवर्तन लाना पड़ता है। यह सबसे बुनियादी मुद्दा है। यह शिविर इस दिशा में एक प्रभावशाली कदम है। पार्टी ने हम सभी को बहुत कुछ दिया है। अब समय है कर्ज उतारने का। हमें अपनी निजी आकांक्षाओं को संगठन हितों के अधीन रखना होगा। मैं आप सबसे आग्रह करती हूं कि अपने विचार खुलकर रखे। मगर बाहर सिर्फ एक ही संदेश जाना चाहिए संगठन की मजबूती, दृढ़निश्चय और एकता का संदेश। हाल ही में मिली नाकामयाबियों से हम बेखबर नहीं हैं। न ही हम बेखबर हैं उस संघर्ष की कठिनाइयों से, जिनसे हमें जीतना है।