राजस्थान में BJP नेता विपक्ष की भुमिका निभाने कि बजाय सत्ता में आने के रास्ते तलाश रहे है- पायलट

 
Instead of playing the role of opposition, BJP leaders in Rajasthan are looking for ways to come to power: Pilot

जयपुर। दूध-दही और पनीर (Milk-curd and cheese) समेत रोजमर्रा की चीजों पर GST लगाए जाने को लेकर BJPऔर विपक्षी दल आमने-सामने हैं। विपक्षी दल संसद से लेकर सड़क तक हंगामा कर रहे हैं और केंद्र सरकार से इसे वापस लेने की मांग कर रहे हैं। इस कड़ी में राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम और कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने केंद्र को आड़े हाथ लिया (Former Deputy CM of Rajasthan and Congress leader Sachin Pilot slammed the Center) है।

जयपुर में कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने कहा कि महंगाई से जनता त्रस्त है, लेकिन वित्त मंत्री कह रही हैं कि भारत में मंदी नहीं है। यह जवाब तथ्यों से परे है। पायलट ने कहा कि महंगाई को लेकर जनता पूरी तरह से टूट चुकी है और सरकार कह रही है कि देश में महंगाई नाम की कोई चीज नहीं है। केंद्र सरकार आम आदमी के मुद्दों से बचने की कोशिश कर रही है।

कांग्रेस नेता पायलट ने बीजेपी और केंद्र सरकार पर धर्म की राजनीति कर लोगों को बांटने का भी आरोप लगाया। पायलट ने बताया कि बीजेपी सरकार सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ कर देश में राजनीति करना चाह रही है। पायलट यही तक नहीं रुके। उन्होंने राजस्थान भाजपा के नेताओं पर भी जमकर हमला बोला। पायलट ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के नेता विपक्ष की भूमिका निभाने की बजाय कोई रास्ता ढूंढ़ने में लगे हैं, जिससे आसानी से सत्ता में आ जाएं।  
सचिन पायलट ने यूपीए सरकार की उपलब्धियों को भी गिनाया। पायलट ने कहा कि कांग्रेस ने अपने कार्यकाल में देश को मनरेगा, शिक्षा का अधिकार, राइट टू इंफॉर्मेशन, राइट टू एजुकेशन समेत कई अन्य लाभकारी योजनाएं दी है। जिससे आम लोगों को फायदा मिल रहा है। लेकिन बीजेपी सिर्फ बयानबाजी कर लोगों को गुमराह कर रही है।

गौरतलब है कि राजस्थान में अगले साल 2023 में विधानसभा चुनाव होने हैं। चुनाव से पहले बीजेपी नेता सत्ताधारी दल कांग्रेस के नेताओं पर हमला करने का एक भी मौका नहीं छोड़ते हैं। वहीं, कांग्रेस नेता भी केंद्र से लेकर प्रदेश तक में बीजेपी के खिलाफ लगातार बयान देते रहते हैं। हालांकि, सियासी गलियारों में चर्चा है कि कांग्रेस आलाकमान चुनाव से पहले सचिन पायलट को बड़ी जिम्मेदारी सौंपने वाला है।