महंगाई- बेरोजगारी के खिलाफ कांग्रेस ने किया जोरदारप्रदर्शन, सिविल लाइंस फाटक पर दी गिरफ्तारी

 
Inflation- Congress performed vigorously against unemployment, arrested at Civil Lines gate

जयपुर। महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ कांग्रेस (Congress against inflation and unemployment) ने शुक्रवार को देशव्यापी विरोध प्रदर्शन किया (nationwide protests) है। इसी कड़ी में राजस्थान के सभी जिलों में कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं विरोध प्रदर्शन कर केन्द्र सरकार के खिलाफ हल्ला मचाया (In all the districts of Rajasthan, Congress leaders and workers protested against the central government.) । राजधानी जयपुर में सिविल लाइन्स फाटक पर सुबह 11 बजे से दोपहर 1 बजे तक धरना दिया गया। धरने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राजभवन का सांकेतिक घेराव किया और अपनी गिरफ्तारी दी।

पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा, मंत्री प्रताप सिंह, महेश जोशी, गोविंद राम मेघवाल, विधायक अमित चाचाण सहित कांग्रेस नेताओं को विद्याधर नगर थाने ले जाकर रिहा किया गया। धरने को संबोधित करते हुए कांग्रेस के नेता केंद्र सरकार पर जमकर बरसे और बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी के लिए केंद्र की नीतियों को जिम्मेदार ठहराया। 

मंत्री महेश जोशी ने कहा कि देश में आज तानाशाही की सरकार चल रही है विपक्ष की आवाज को दबाया जा रहा है। जांच एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है। कैबिनेट मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि केंद्र सरकार ने आटे-चावल और नमक पर भी जीएसटी लगा दिया और गरीब के मुंह से निवाला छीनने का काम किया है। देश की जनता केंद्र सरकार को माफ करने वाली नहीं है। देश में लोकतंत्र की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं, कांग्रेस कार्यकर्ताओं को ही उनके मुख्यालय में जाने नहीं दिया जा रहा है, ऐसा आजाद भारत में कभी नहीं हुआ।

तिरंगे को लेकर मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि तिरंगे की आड़ में बीजेपी अपनी नाकामियों को छुपा रही है। लोग महंगाई और बेरोजगारी पर कोई सवाल नहीं करें इसलिए तिरंगे को अभियान बनाया गया है, जबकि कांग्रेस पार्टी आजादी के पहले से ही तिरंगे को अपना धर्म मानती आई है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र की मोदी सरकार एक तरफ जहां देश में महंगाई और बेरोजगारी को समाप्त करने में नाकाम साबित हुई है, वहीं विपक्ष की आवाज को दबाया और कुचला जा रहा है। जांच एजेंसियों के जरिए चुनी हुई सरकारों को गिराया जा रहा है। विपक्ष के जो भी नेता केंद्र सरकार से सवाल करते हैं उनके खिलाफ ईडी की कार्रवाई की जाती है, लेकिन कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेता केंद्र की मोदी सरकार और ईडी से डरने डरने वाले नहीं हैं।

इसके लिए चाहे हमें जेल भरनी पड़े और कांग्रेस कार्यकर्ता पीछे नहीं हटेगा और साल 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार को सत्ता से उखाड़ फेकेंगे। कांग्रेस के धरने में आज बारिश ने जमकर व्यवधान डाला। तेज बारिश के चलते बारिश से बचने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं को इधर-उधर होते रहे। धरने के लिए लगाए गए टेंट भी पानी से तर बतर रहा। बरसात के बीच ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपनी गिरफ्तारी दी।