बूंदी : चोरी और लूट कि वारदातों के विरोध में पानी की टंकी पर चढ़ीं विधायक चंद्रकांता मेघवाल

- जिला कलेक्टर और एसपी को मौके पर बुलाने के लिए अड़े प्रदर्शनकारी
- अतिरिक्त जिला कलेक्टर मुकेश चौधरी वार्ता करने कापरेन पहुंचे, सोमवार को कापरेन बन्द का आव्हान
 
Bundi: MLA Chandrakanta Meghwal climbed the water tank to protest against theft and robbery incidents

बूंदी। जिले में लगातार हो रही लूट और चोरियों की वारदातों (Robberies and thefts) से नाराज बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष, केशोरायपाटन विधायक चंद्रकांता मेघवाल (BJP State Vice President, Keshoraipatan MLA Chandrakanta Meghwal) रविवार को समर्थको के साथ कापरेन में पानी की टंकी पर चढ़ गई (Climbed the water tank in kapren)। विधायक की मांग है कि जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक मौके पर पहुंचें और चोरियों के खुलासे को लेकर उचित आश्वासन दें, तभी वे टंकी से नीचे उतरेंगी। विधायक मेघवाल अपने समर्थको के साथ करीब 8 घंटे से टंकी पर बैठी है। सूचना पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक किशोरी लाल, पुलिस उपाधीक्षक अंकित जैन, उपखंड अधिकारी बलवीर सिंह आदी ने विधायक के साथ समझाइश की लेकिन विधायक अपनी मांग पर अड़ी रही। विधायक ने थाने के पूरे स्टाफ को निलंबित करने की मांग भी की है।

रात तक वार्ता जारी, सोमवार को कापरेन बन्द का आव्हान
कापरेन में बढ़ती चोरी और लूट की वारदातों को लेकर सुबह 10 बजे से चल रहे प्रदर्शन के बाद रात करीब 8ः20 बजे अतिरिक्त जिला कलेक्टर मुकेश चौधरी कापरेन पहुंचने और प्रदर्शन कारियो से वार्ता शुरू की। वहीं कापरेन कस्बे के समस्त व्यापारियों एवं आम नागरिकों ने सोमवार को कापरेन कस्बा बंद रखने का निर्णय लिया है। व्यापारियों ने आह्वान किया है कि सभी व्यापारी बढ़ती अपराधिक वारदातों के विरोध में अपने प्रतिष्ठान बंद रखेंगे। बंद को सभी संगठनों ने समर्थन दिया है।

यूं चला घटनाक्रम, घंटो तक टंकी पर जमे रहे प्रदर्शनकारी
कापरेन कस्बे सहित ग्रामीण क्षेत्र में लगातार हो रही वारदातो पर केशोरायपाटन विधायक चंद्रकांता मेघवाल ने पुलिस पर ढुलमुल रवैया अपनाने का आरोप लगाया है। विधायक चंद्रकांता, भाजपा पदाधिकारियों के साथ सुबह करीब 10 बजे थाने के सामने धरने पर बैठ गई और समर्थकों के साथ प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान बड़ी संख्या में व्यापारी भी मौजूद रहे। प्रदर्शनकारियों ने 3 घंटे के अंदर पुलिस-प्रशासन के उच्च अधिकारियों को बुलाने की मांग की। दोपहर एक बजे तक जब कोई अधिकारी मौके पर नहीं आया तो प्रदर्शनकारी बिफर गये। विधायक चंद्रकांता मेघवाल, भाजपा जिलाध्यक्ष छीतरलाल राणा, लोकेश बागड़ा, सत्येंद्र चौरसिया, ललित मीणा, प्रवीण सिंह सिसोदिया सहित अन्य भाजपा पदाधिकारी जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए थाने के पास स्थित टंकी पर चढ़ गए। विधायक मेघवाल 40 समर्थकों के साथ दोपहर एक बजे से रात 9 बजे तक भी टंकी पर ही बैठे है। मौके पर कलेक्टर और एसपी को बुलाने पर अड़े है। रात करीब 8ः20 बजे अतिरिक्त जिला कलेक्टर मुकेश चौधरी कापरेन पहुंचने और प्रदर्शन कारियो से वार्ता शुरू की।

विधायक चंद्रकांता मेघवाल सहित क्षेत्र के व्यापारियो व आमजन ने कापरेन थाने के पूरे स्टाप को निलंबित करने की मांग की है। प्रदर्शनकारियो का आरोप है की रात्रि गश्त के दोरान पुलिसकर्मी नशे की हालत में रहते हैं। पुलिस का यह रवैया आमजन के लिए खतरनाक है।

बढ़ती घटनाओं से नाराज व्यापारियों व अन्य लोगों ने शनिवार को उप तहसील और थाने में एसपी के नाम ज्ञापन सौंपा था। इसमें बताया गया कि कस्बे में लगातार आपराधिक घटनाएं हो रही हैं। पुलिस अपराधियों पर अंकुश लगाने में नाकाम है। पिछले हफ्ते हथियारों से लैस बदमाशों ने रिद्धि-सिद्धि नगर में दंपती को बंधक बना करीब 25 लाख के जेवरात व नकदी पर हाथ साफ कर दिया था। इसके अलावा कई अन्य वारदात हैं, जिनमें पुलिस ने कोई गिरफ्तारी नहीं की है।