श्री क्षत्रिय युवक संघ हीरक जयंती समारोह में उमड़ा ऐतिहासिक सैलाब़, केसरिया रंग में रंगा जयपुर, ग्राउंड छोटा पडा

 
 केसरिया रंग में रंगा जयपुर, ग्राउंड छोटा पडा
श्री क्षत्रिय युवक संघ के 75 वर्ष पूरे होने पर आज राजस्थान की राजधानी जयपुर में हीरक जयंती समारोह मनाया। समारोह में देशभर के कोने-कोने से क्षत्रिय समाज के लोग जुटे। समारोह में क्षत्रिय जहां केसरिया साफा बांधकर आये वहीं क्षत्राणियां केसरिया वेशभुषा में आयी। इससे जयपुर केसरिया रंग में रंगा नजर आया। समारोह में सभी राजनीतिक दलों और अन्य समाजों के प्रतिनिधि भी शामिल हुये। समारोह में देशभर से लाखों लोग शामिल हुये तो ग्राउंड छोटा पड़ गया। 

जयपुर। श्री क्षत्रिय युवक संघ के हीरक जयंती समारोह में आज जयपुर केसरिया रंग में रंगा नजर आया। देशभर से राजपूत समाज के लोग जयपुर में इक्ट्ठा हुए। देश के कोने कोने से लाखों की तादाद में पहुंचे क्षत्रिय समाज ने मंच से संदेश दिया कि केसरिया किसी पार्टी को फायदा पहुंचाने के लिए नहीं बल्कि हिंदुस्तान के मान-सम्मान की रक्षा के लिए है। यह एक प्रगतिशील संगठन है, यह परपंराओं का संरक्षण भी करता है और नए विचारों को अंगीकार भी करता है। समाज के चरित्र के निर्माण में संघ ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। जो क्षरण को रोके वही क्षत्रिय है। समारोह के दौरान हेलिकॉप्टर से पुष्प वर्षा की गई।

श्री क्षत्रिय युवक संघ हीरक जयंती समारोह में उमड़ा ऐतिहासिक सैलाब़

जयपुर के भवानी निकेतन में आयोजित इस समारोह में जितनी संख्या में क्षत्रिय आये हुये लगभग उतनी ही संख्या में क्षत्राणियों ने अपनी सहभागिता निभाई। बड़ी बात यह रही कि समारोह में आये पुरुष केसरिया साफा बांधे हुये थे वहीं महिलायें केसरिया वेशभूषा पहनकर आयी। राजपूत समाज के राजस्थान में अब तक हुये समारोह में हीरक जयंती समारोह सबसे बड़ा साबित हुआ। समारोह में केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत समेत राजस्थान उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार, गुजरात और दक्षिण भारत के प्रदेशों से भी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि, राजपूत समाज से जुड़ी अन्य संस्थाओं और समाज के लोग एक जाजम पर आये।

समारोह को संबोधित करते हुये संघ के संरक्षक भगवान सिंह रोलसाहबसर ने कहा कि भारत संविधान से चलता है। उसका कभी भी उल्लंघन नहीं करें। हमारे भीतर पवित्रता उत्पन्न करने के लिए श्रेष्ठ कर्म की आवश्यकता है। हम ईश्वर की बनाई चीजों से प्रभावित हो जाते हैं, जबकि हमें ईश्वर की ओर जाना चाहिए। इसका निर्णय हमें खुद को करना होगा।

क्षत्राणियां केसरिया वेशभुषा में आयी

संघ प्रमुख लक्ष्मण सिंह बेण्यांकाबास ने कहा कि क्षत्रिय युवक संघ ऐसी प्रणाली है जो शास्त्रों के द्वारा अंतर को जागृत करती है, क्षत्रिय युवक संघ राजपूत को क्षत्रिय बनाने की प्रयोगशाला है। यह प्रगतिशील संगठन है। संघ जहां परंपराओं का संरक्षण करता है वहीं नए विचारों को अंगीकार भी करता है। जैसे को तैसा हमारा कभी आदर्श नहीं रहा।

केन्द्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि क्षत्रिय युवक संघ संस्कारों का रक्षण कर रहा है। जो गुण हम लोगों में सुसुप्त अवस्था में है संघ उन्हें जागृत कर रहा है. संघ ने समाज के चरित्र के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इस मंच से राजनीतिक बात नही,ं हम केवल संगठन के लिए क्षात्र धर्म की बात करें। क्षत्रिय युवक संघ महिला प्रवर्ग की प्रमुख और संघ संस्थापक तन सिंह की पुत्री जागृति बा हरदासकाबास ने गृहस्थ में क्षत्रिय युवक संघ की महत्ता बताते हुए कहा कि संघ संस्कारों के माध्यम से पारिवारिक उन्नति का मार्ग दिखाने वाला है।

उप नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि क्षत्रिय युवक संघ संस्कारों के निर्माण का कारखाना है। यह चरित्र निर्माण, व्यक्तित्व निर्माण और राष्ट्र निर्माण करता है। लोकतंत्र के यज्ञ में हमारी सहभागिता कम रहती थी। क्षत्राणिया वोट डालने नहीं जाती थी, लेकिन अब स्थितियां बदलने के सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं। आरक्षण का जनक क्षत्रिय युवक संघ है, हम संकल्प लेकर जाएं कि विरासत को मिटाने नहीं देंगे। 

राजस्थान सरकार के मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा जो किसी भी आधार पर भेदभाव नहीं करता वह क्षत्रिय कहलाता है। क्षत्रिय गर्दन कटाकर के भी केसरिया का मान-सम्मान रखेगा। क्षत्रिय युवक संघ जाति और पार्टी से ऊपर उठकर मानव धर्म की बात करता है। हिंदुस्तान में क्षात्र धर्म का पालन होगा। क्षत्रिय को कभी दरकिनार नहीं किया जा सकता। कांग्रेस नेता धर्मेन्द्र राठौड़ ने कहा कि यह एक गैर राजनीतिक संघ है। यही वजह है कि सब राजनीतिक दलों के लोग आए हैं। प्रताप फाउण्डेशन और संघ के वरिष्ठ स्वयंसेवक महावीर सिंह सरवड़ी ने कहा कि समाज में राजनीतिक चेतना जागृत करने का प्रयास किया जा रहा है।

समारोह में संघ के संस्थापक तन सिंह, भूतपूर्व संघ प्रमुख आयुवानसिंह हुडील, नारायण सिंह रेड़ा के आडियो विजुअल के माध्यम से जीवन परिचय बताया गया. संघ के अनुषांगिक संगठनों प्रताप फाउण्डेशन, प्रताप युवा शक्ति और दुर्गा बालिका संस्थान आदि पर भी विजुअल के माध्यम से जानकारी दी गई।