पत्रकारों के एडवोकेट जनरल बनेंगे:- कैलाश विजयवर्गीय

- नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्टस (इंडिया) के राष्ट्रीय अधिवेशन में पत्रकार हितों के कई प्रस्ताव पारित।
 
Will become Advocate General of Journalists: Kailash Vijayvargiya

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (National General Secretary Kailash Vijayvargiya) ने पत्रकारों का आज आह्वान किया कि वे समाचार संकलन एवं प्रकाशन में राष्ट्रीय हितों का ध्यान रखें और उनके हितों की रक्षा के लिए वह स्वयं पैरोकार बनेंगे। विजयवर्गीय ने जर्नलिस्ट्स यूनियन ऑफ मध्यप्रदेश द्वारा आयोजित नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्टस (इंडिया)  (National Union of Journalists (India)) के यहां आयोजित राष्ट्रीय अधिवेशन को संबोधित करते हुए यह बात कही। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में राज्यसभा सांसद अजय प्रताप सिंह उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता एनयूजेआई के अध्यक्ष रास बिहारी ने की और संचालन उपाध्यक्ष प्रदीप तिवारी ने किया। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी के भोपाल केंद्र की बहनों ने भी शिरकत की। 

Will become Advocate General of Journalists: Kailash Vijayvargiya

 विजयवर्गीय ने कहा कि आज पत्रकार बेचारा बन गया है। उन्होंने कहा कि पत्रकारिता के नाम पर अनैतिक आचरण करने वाले कुछ लोगों ने आगे का स्थान हथिया लिया है और केवल कलम एवं खबर से मतलब वाला पत्रकार हाशिये पर अकेला पड़ा है। उन्होंने कहा कि पत्रकारों की सुरक्षा एवं सुविधाओं को लेकर जायज मांग को पूरा कराने के लिए वह स्वयं उनके 'एडवोकेट जनरल' (महाधिवक्ता) बनेंगे। उन्होंने पत्रकारों का आह्वान किया कि इस माहौल में समाचार के चयन, प्रस्तुतीकरण में राष्ट्र एवं समाज के हितों और उस पर पड़ने वाले प्रभाव का ध्यान रखना जरूरी है। 

विशिष्ट अतिथि सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि सोशल मीडिया के दौर में हर कोई पत्रकार बनने का दावा करने लगा है। इसलिए समय की मांग है कि पत्रकार की परिभाषा तय होनी चाहिए और इसके बाद सुरक्षा एवं सुविधाओं की मांग को उठाया जाए। उन्होंने कहा कि वह संसद में पत्रकारों की आवाज़ को जोर - शोर से उठायेंगे। 

इससे पहले एनयूजेआई के महासचिव प्रसन्न मोहंती ने पत्रकारों के रेलवे टिकट की रियायत बहाल करने तथा राज्यों में पत्रकार अधिमान्यता समितियों का पुनर्गठन करने की मांग की। उन्होंने इस बात पर चिंता व्यक्त की कि पत्रकारों की अधिमान्यता सरकार करने लगी है और इसमें भेदभाव और दमनात्मक रुख दिख रहा है। 
बाद में एनयूजेआई के आम परिषद की बैठक में एक प्रस्ताव पारित किया जिसमें मुख्य धारा के मीडिया को सोशल मीडिया से विस्थापित करने की कोशिश का विरोध किया गया तथा मुख्य धारा के मीडिया खास कर संवाद समितियों को सशक्त बनाने की मांग की गई है। 

- पत्रकारों का सम्मान
सम्मेलन में आए पत्रकारों का स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। मुख्य अतिथि कैलाश विजयवर्गीय, विशिष्ट अतिथि अजय प्रताप सिंह, राष्ट्रीय अध्यक्ष रास बिहारी, महासचिव प्रसन्ना मोहंती, कोषाध्यक्ष अरविंद सिंह, उपाध्यक्ष प्रदीप तिवारी ने जार राजस्थान के अध्यक्ष राकेश कुमार शर्मा, महासचिव संजय सैनी, अजमेर अध्यक्ष अकलेश जैन, झालावाड अध्यक्ष भँवर सिंह कुशवाह, तूफान सिंह, वसीम को स्मृति चिन्ह देकर सम्मान किया गया। सभी राज्यों के प्रतिनिधियों का सम्मान किया।

- शीतकालीन सत्र में पत्रकार सुरक्षा कानून का मुद्दा उठाएंगे सांसद
सम्मेलन में विशिष्ट अतिथि सांसद अजय प्रताप सिंह ने कहा कि पत्रकारों के हितों व सुविधाओं का मामला राज्यसभा के आगामी सत्र में उठाकर सरकार के सामने बात रखेंगे। पत्रकार सुरक्षा कानून पत्रकारों के लिये जरूरी है। साथ ही पत्रकार की परिभासा भी कानून से ही तय हो पाएगी।