Presidential Election 2022 : 64 प्रतिशत वोट लेकर देश की15वीं राष्ट्रपति निर्वाचित हुईं द्रौपदी मुर्मू, विपक्ष नहीं हो सका एकजुट

 
Presidential Election 2022: Draupadi Murmu was elected the 15th President of the country with 64 percent votes, the opposition could not unite

नई दिल्ली। भारतीय स्वतंत्रता के 75वें वर्ष (75th year of Indian independence) में राजग उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने भारत गणराज्य की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति निर्वाचित (NDA candidate Draupadi Murmu elected the first tribal woman President of the Republic of India) होने का इतिहास रच दिया है। राष्ट्रपति चुनाव में मुर्मू ने संयुक्त विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को भारी अंतर से हराकर बड़ी जीत हासिल की है। वोटों की गिनती के तीसरे ही राउंड में उन्होंने जीत के लिए आवश्यक बहुमत का आंकड़ा आसानी से पार कर लिया। आंकड़ों से साफ है कि विपक्षी खेमे के करीब 17 सांसदों के अलावा बड़ी संख्या में विधायकों ने भी राजग प्रत्याशी के पक्ष में क्रास वोटिंग की।

पीएम मोदी ने दी निर्वाचित राष्ट्रपति मुर्मू को बधाई
जीत के लिए आवश्यक वोटों का आंकड़ा पार करते ही मुर्मू को बधाइयां देने का सिलसिला शुरू हो गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सबसे पहले मूर्म को उनके निवास पर जाकर बधाई दी और ट्वीट करते हुए कहा कि जब 1.3 अरब भारतीय आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं, तब पूर्वी भारत के एक सुदूर हिस्से में जन्मीं आदिवासी समुदाय की भारत की एक बेटी हमारी राष्ट्रपति बनी है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने इतिहास रच दिया है और मुर्मू का जीवन एक प्रेरणा है।

यशवंत सिन्हा समेत कई दिग्गजो ने दी बधाई 
विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने भी मुर्मू को बधाई देते हुए कहा कि वह आशा करते हैं कि 15वें राष्ट्रपति के रूप में बिना भय और पक्षपात के वह संविधान के संरक्षक की भूमिका निभाएंगी। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह से लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी समेत देश की तमाम हस्तियों ने भी मुर्मू को इस ऐतिहासिक जीत पर बधाई दी।

मुर्मू के जीत के लिए आवश्यक 50 प्रतिशत से अधिक मत हासिल करने का आंकड़ा पार करने के साथ ही भाजपा की ओर से उनकी जीत के उपलक्ष्य में जोरदार जश्न का सिलसिला शुरू हो गया। राजधानी दिल्ली से लेकर मुर्मू के प्रदेश ओडिशा और उनके गांव समेत हर जगह पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं ने इस ऐतिहासिक राजनीतिक पल को यादगार बनाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी, हर तरफ जश्न का माहौल है।

Presidential Election 2022

द्रौपदी मुर्मू को प्रथम वरीयता 2824 वोट
संसद भवन परिसर में वोटों की चौथे और अंतिम राउंड की गिनती के बाद मुर्मू को राष्ट्रपति निर्वाचित करने का ऐलान हुआ। राज्यसभा के महासचिव पीसी मोदी ने कहा- नतीजों की घोषणा के साथ राष्ट्रपति चुनाव संपन्न हो गया। चुनाव में 4754 मत पड़े, जिसमें से 4701 वैध और 53 अमान्य घोषित हुए। राष्ट्रपति चुने जाने वाले उम्मीदवार के लिए 5,28,491 मत जरूरी थे। द्रौपदी मुर्मू ने 2824 प्रथम वरीयता वोट हासिल किए जिनकी वैल्यू 6,76,803 है। 

25 जुलाई को लेंगी शपथ 
निर्वाचित राष्ट्रपति मुर्मू अब 25 जुलाई को संसद भवन के केंद्रीय कक्ष में देश की अगली 15 वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेंगी। वर्तमान राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द का कार्यकाल 24 जुलाई मध्यरात्रि को समाप्त हो रहा है।

विपक्षी दलो का बिखराव दिखा 
चुनाव अभियान के दौरान विपक्षी खेमे के दलों में जो बिखराव दिखा उसका परिणाम मुर्मू को राजग और उसे समर्थन देने वाले दलों की कुल संख्या से भी ज्यादा मिले वोटों में नजर आया। मुर्मू ने कुल वोटों के दो तिहाई से अधिक मत हासिल किए और सिन्हा सभी विपक्षी वोटों को भी अपनी झोली में नहीं डाल पाए। 

विपक्षी दलों के 17 सांसदों ने क्रास वोटिंग की
गौरतलब है कि देश के 15वें राष्ट्रपति के लिए 18 जुलाई को हुए चुनाव में सांसदों और विधायकों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था। यह देश का 16वां राष्ट्रपति चुनाव रहा जिसमें मतदाता सूची में शामिल 4,796 सांसदों एवं विधायकों में से 98.9 प्रतिशत ने वोट डाले थे। कई राज्यों में विपक्षी दलों के विधायकों ने पार्टी लाइन से हटकर मुर्मू के पक्ष में वोटिंग किया था। बताया जा रहा है कि आठ सांसद रहे मतदान से अनुपस्थित रहे थे। सूत्रों ने कहा कि विपक्षी दलों के 17 सांसदों ने मुर्मू के समर्थन में क्रास वोटिंग की है।