वीडियों में देखे, कैसे पानी की टंकी पर चढ़ी महिला ने किया हाईवोल्टेज ड्रामा

 
In the video, see how the woman who climbed the water tank did high voltage drama

उत्तर प्रदेश के हाथरस में कलेक्ट्रेट परिसर में स्थित पानी की टंकी पर को एक महिला चढ़ गई। उसने काफी देर तक हाईवोल्टेज ड्रामा किया। महिला के टंकी पर चढ़ने से कलेक्ट्रेट परिसर में अफरा-तफरी का माहौल बन गया। अधिकारियों के काफी समझाने बुझाने पर महिला टंकी से नीचे उतरी।

दरअसल, हाथरस की रतनकुंज कॉलोनी निवासी सुनीता सिंह का आरोप है कि वह नगरपालिका की दुकान संख्या चार के स्थानांतरण को लेकर नगरपालिका के दफ्तर के चक्कर काट रही है। उनका आरोप है कि कई बार शिकायत करने के बावजूद शिकायत का निस्तारण नहीं हुआ है। आरोप है कि दुकान के स्थानांतरण को लेकर एक बाबू रिश्वत मांग रहा है। इस संबंध में उन्होंने 17 जून को समाधान दिवस में शिकायत भी की।

सुनीता का कहना है कि नगरपालिका के भ्रष्टाचार में लिप्त अधिशासी अभियंता व अन्य कर्मचारियों द्वारा उससे 50 हजार रुपये रिश्वत मांगी, जिसे लेकर आला अधिकारियों को शिकायत की गई, पर किसी ने नहीं सुनी। मेरे द्वारा जिलाधिकारी को सूचित किया था कि मुझे न्याय नही मिला तो में आत्महत्या कर लूंगी। उसी न्याय के लिए मैंने आज कलेक्ट्रेट परिसर में लगी पानी की टंकी पर चढ़कर आत्महत्या की कोशिश की है, पर मुझे अपर जिलाधिकारी ने आश्वासन दिया है कि वो मेरी दुकान का ट्रांसफर करा देंगे। वहीं टंकी पर चढ़ी महिला को डीएम समेत सभी अधिकारियों ने समझा भुझाकर उतार लिया। लेकिन कोई भी अधिकारी बोलने से बचते नजर आ रहे है।

मामले में एडीएम बसंत अग्रवाल ने महिला को समझा बुझकर टंकी से नीचे उतारा और उन्होंने नगर पालिका के संबाधित अधिकारियों को बुलाकर समस्या के निस्तारण के निर्देश भी दिए और कहा है कि तत्काल दुकान से संबंधित महिला की समस्या का समाधान किया जाए।


पहले भी रोड जाम कर चुकी है महिला
आज से कुछ समय पहले भी इसी मामले को लेकर सुनीता सिंह ने सड़क पर आकर ओवरब्रिज के पास जमीन पर बैठकर रोड जाम कर दिया था। उस समय रोड़ पर काफी देर तक जाम लगा रहा था, तब संबंधित थाना हाथरस गेट पुलिस ने मौके पर पहुंचकर महिला को काफी समझाया उसके बाद जाम खुल सका था, लेकिन उसके बाद भी आज तक महिला की दुकान ट्रांसफर नही हो सकी, जिसको लेकर सुनीता सिंह ने जिला मुख्यालय कलेक्ट्रेट पर पहुंचकर पानी की टंकी पर चढ़कर हंगामा किया।