in

Pali : राजस्थान की अर्थव्यवस्था में प्रवासियों का महत्वपूर्ण योगदानः- गहलोत

– सादड़ी में जैन समाज के स्नेह सम्मेलन समारोह का किया शुभारंभ

Important contribution of migrants in Rajasthan's economy- Gehlot

पाली। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) ने कहा कि प्रदेश सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं से Rajasthan लगातार आगे बढ़ रहा है। आज पूरे देश में राजस्थान मॉडल की चर्चा (Discussion of Rajasthan model in the country) हो रही है। प्रदेश के विकास में प्रवासी राजस्थानियों का भी महत्वपूर्ण योगदान (Migrant Rajasthanis have also contributed significantly in the development of the state.) है।

गहलोत गुरुवार को Pali में सादड़ी जैन समाज की ओर से आयोजित स्नेह सम्मेलन के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पहले राजस्थान का नाम लेते ही रेगिस्तान, सूखा जैसे शब्द दिमाग में आते थे, लेकिन आज स्थितियां काफी अलग हैं। इंदिरा गांधी नहर का पानी जोधपुर तक पहुंच रहा है। राज्य का एक बड़ा हिस्सा इस नहर से लाभान्वित हो रहा है। प्रदेश में Refinery के साथ-साथ ही Petro Chemical Complex बन रहा है, जिससे औद्योगिकीकरण को बढ़ावा मिलेगा। दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर का निर्माण हो रहा है, जो औद्योगिक इकाइयों को सीधे बंदरगाह से जोड़ेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सोलर एनर्जी उत्पादन में राजस्थान देश में पहले स्थान पर है। राज्य सरकार ने उद्योगों की स्थापना के लिए single window system शुरू किया है। नया MSME कानून बनाया गया है, जिससे जरूरी अनुमतियां मिलने में सुगमता हो रही है। राज्य सरकार की निवेश हितैषी नीतियों के कारण अक्टूबर माह में आयोजित इन्वेस्ट राजस्थान समिट में 11 लाख करोड़ के एमओयू साइन हुए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि Pali में लगातार विकास कार्य करवाए जा रहे हैं। जवाई बांध पुनर्भरण के लिए 3 हजार करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है ताकि क्षेत्र में पानी की समस्या दूर की जा सके। उन्होंने कहा कि इंडस्ट्रियल कॉरिडोर (industrial corridor) के माध्यम से क्षेत्र में औद्योगिक विकास को गति मिल रही है। यहां के सड़क तंत्र को और अधिक मजबूत बनाया जा रहा है। 4 जनवरी से शुरू हो रही राष्ट्रीय स्काउट एवं गाइड जम्बूरी भी जिले के रोहट में आयोजित होने जा रही है।

राजस्थान सभी क्षेत्रों में अव्वल
गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार की योजनाओं ने समाज के हर वर्ग को राहत देने का कार्य किया है। बुजुर्गाे, निशक्तजनों, विधवाओं सहित लगभग एक करोड़ लोगों को पेंशन दी जा रही है। राज्य में 211 कॉलेज खोले गए हैं, जिनमें 94 गर्ल्स कॉलेज हैं। 500 बालिकाओं के नामांकन पर कॉलेज खोलने का निर्णय राज्य सरकार ने किया है। इन्हीं प्रयासों का परिणाम है कि आज उच्च शिक्षा में लड़कियों का नामांकन लड़कों से अधिक हो गया है। लगभग 3.50 लाख सरकारी नौकरियां देने का कार्य राज्य सरकार कर रही है। महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोले गए हैं, ताकि वंचित तबके के विद्यार्थी अंग्रेजी माध्यम में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा निःशुल्क प्राप्त कर सकें। सामाजिक सुरक्षा पेंशन, पालनहार योजना, मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना (Chief Minister Anuprati Coaching Scheme) सरकार की महत्वपूर्ण योजनाएं हैं। इससे जरूरतमंदों को आगे बढ़ने के अवसर मिल रहे हैं।

स्वास्थ्य के क्षेत्र में अग्रणी राजस्थान
मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य क्षेत्र की योजनाओं से राज्य देश मंे मॉडल स्टेट बना है। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना (Chief Minister Chiranjeevi Health Insurance Scheme) में 10 लाख रुपये तक का निःशुल्क इलाज कराया जा रहा है। हार्ट, लीवर, किडनी ट्रांसप्लांट, कोक्लियर इम्प्लांट में सम्पूर्ण खर्च राज्य सरकार वहन कर रही है। दवाइयां और जांचें निःशुल्क उपलब्ध हो रही हैं। साथ ही, 5 लाख रुपये के दुर्घटना बीमा से विपरीत परिस्थितियों में सम्बल प्रदान किया जा रहा है।

राज्य में कोविड महामारी के दौरान हुआ शानदार प्रबंधन
गहलोत ने कहा कि कोरोना महामारी में राज्य में शानदार प्रबंधन किया गया। यहां के भीलवाड़ा मॉडल की देशभर में सराहना हुई। राज्य सरकार द्वारा कोई भूखा ना सोए के संकल्प के साथ राज्य में सभी जरूरतमंद लोगों के लिए भोजन का प्रबंध किया गया। प्रदेश में सर्वेक्षण के माध्यम से 30 लाख से अधिक अति निर्धन लोगों की पहचान कर उनके निर्वहन की व्यवस्था राज्य सरकार द्वारा की गई। कोविड-19 महामारी में महंगे इंजेक्शन व दवाइयां आमजन को निःशुल्क उपलब्ध करवाई गई। ऑक्सीजन की कमी से राज्य में कोई जनहानि नहीं हुई। उन्होंने कहा कि रोज कमाकर खाने वाले मजदूरों, ठेले वालों आदि को राज्य सरकार द्वारा आर्थिक सहायता दी गई।

सादड़ी ने महाराणा को भामाशाह दिए
समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा कि मेवाड़ की रक्षा के लिए महाराणा प्रताप को सर्वस्व दान करने वाले भामाशाह का सम्बन्ध सादड़ी से है। भामाशाह का नाम आज एक उपाधि बन चुका है, यह सादड़ी के लिए गर्व की बात है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सादड़ी के जैन समाज का देश के विभिन्न राज्यों की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने माय सादड़ी एप भी लॉन्च (My Saddi app also launched) किया। इससे पहले गहलोत ने रणकपुर पहुंचकर जैन मंदिर में दर्शन किए। मुख्यमंत्री ने मार्ग में रूककर आमजन से मुलाकात भी की। इस अवसर पर रीको अध्यक्ष कुलदीप रांका, पूर्व सांसद बद्रीराम जाखड़, राजस्थान जन अभाव अभियोग निराकरण समिति के अध्यक्ष पुखराज पाराशर सहित जनप्रतिनिधि, वरिष्ठ अधिकारी एवं बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित रहे।

Written by CITY NEWS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Rajasthan: Take quick cognizance of the paper leak case and student suicides in Kota - Mishra

राजस्थान : पेपर लीक प्रकरण और कोटा में Students आत्महत्याओं पर त्वरित संज्ञान लेकर कार्यवाही करें – मिश्र

Bhilwara raped a 17-year-old girl for 18 months, Mahant who ran an ashram in 4 states arrested

Bhilwara 17 साल की युवती से 18 महीने तक किया दुष्कर्म, 4 राज्यों में आश्रम चलाने वाला महंत गिरफ्तार