सौतेली मां ने बेटी को 2 बार बेचा, तीसरी बार सौदा करने की फिराक़ में थी, मां सहित 10 के खिलाफ केस दर्ज

 
चूरू महिला थाना
 चूरू। जिले में सौतेली मां द्वारा अपने शौक पूरा करने के लिये अपनी 20 साल की बेटी का लाखों रुपये में सौदा कर दिया। युवती को दो बार बेचा जा चुका था और अब तीसरी बार भी बेचने की फिराक में थी, लेकिन एक युवक की मदद से युवती महिला थाने के महिला सुरक्षा व सलाह केन्द्र पहुंची। वहीं चूरू महिला थाना पुलिस मामला दर्ज करने के बजाय युवती को तीन दिन तक चक्कर लगवाती रही। आखिर महिला सुरक्षा व सलाह केन्द्र की दखल के बाद महिला थाना पुलिस ने सौतली मां सहित 6 नामजद और चार अन्य के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। खरीददारों ने भी 20 साल की युवती को प्रताड़ित करने में कोई कसर नहीं छोडी, घरों में बंधक बनाकर रखा और मारपीट करते हुए दुष्कर्म किया।

युवती मूल रूप से बिहार के मधुबनी क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली है। युवती ने बताया कि उसकी मां की मौत के बाद पिता ने मौसी से दुसरी शादी कर ली थी। माता-पिता का झगड़ा होने पर उसकी मां बिहार से मुहाना जिला जयपुर आ गई। मां ने यहीं युवती की तकदीर पर कालिख पोतते हुए हेमन्त शर्मा नाम के व्यक्ति के साथ साजिश रचकर साल 2019 में जयपुर के चाकसू निवासी दलाल भगवान सहाय शर्मा से बातचीत कर योगराज शर्मा को उसे बेच दिया और उसकी मर्जी के बिना योगराज से शादी करवा दी थी। योगराज ने उसे अपने घर पर बंधक बना कर रखा और इस दौरान उसके साथ लगातार दुष्कर्म किया।

उसके बाद सौतेली मां ने योगराज शर्मा से ओर पैसो की मांग की। उसके इनकार करने पर वह युवती को अपने साथ ले आई। पीड़िता ने अपनी मां को अपने साथ बलात्कार के बारे में बताया, लेकिन उसकी मां ने उसे धमकी देकर खामोश कर दिया। इसके बाद आरोपी मां की बीकानेर जिले के श्रीडूंगरगढ़ निवासी छोटूलाल उर्फ अमरचन्द नायक से दोस्ती हो गई। फिर आरोपी मां बीकानेर आकर रहने लगी। इसी दौरान छोटुलाल नायक और उसकी मां ने चूरू जिले के धीरासर निवासी वासुदेव शर्मा व अन्य को लाखों रुपये लेकर बेच दिया। अप्रैल 2021 में वासुदेव से रुपये लेकर शादी करवा दी।

धीरासर में वासुदेव ने उसके साथ इच्छा के विरुद्ध शारीरिक संबंध बनाए। जब उसकी मां और छोटूलाल के पैसे खत्म हो गए तो उन्होंने वासुदेव व उसके घरवालों से पैसों की मांग की। इनकार करने पर 12 अक्टूबर को चूरू कोर्ट में कुछ कागज तैयार कर युवती के साइन करवाये। यह कागज आपसी सहमति से तलाक लेने के सम्बन्ध में थे। अब युवती की मां धीरासर से उसे अपने साथ ले गई तथा तीसरी बार किसी अन्य व्यक्ति से पैसे लेकर उसे बेचने की फिराक में थी। लेकिन एक युवक के साथ मिलकर पीड़िता किसी तरह अपनी मां के चंगुल से निकलकर 27 अक्टूबर को चूरू के महिला सुरक्षा व सलाह केन्द्र पहुंची। काउंसलर ने उसकी आपबीती सुनकर महिला थाने को अवगत करवाया। तीन दिन के बाद महिला थाना पुलिस ने पीड़िता की रिपोर्ट पर मामला दर्ज किया है।