फोन पर युवक ने शादी के लिए बनाया दबाव, भगा ले जाने की दी थी धमकी तो 9वीं कक्षा की छात्रा ने खाया जहर

 
छात्रा ने खाया जहर

बांसवाड़ा।  एक युवक द्वारा फोन पर शादी करने और भगा ले जाने की धमकी दिये जाने आहत 9वीं कक्षा की एक छात्रा ने जहर खा लिया। लड़की ने मां की बदनामी होने के डर से नाबालिग बालिका ने सुसाइड करने की कोशिश की। लड़की के पिता भी नहीं हैं। घर में मां और बेटी अकेली रहती है, जिनका गरीबी में गुजारा होता है।

फिलहाल युवती का महात्मा गांधी राजकीय चिकित्सालय में उपचार चल रहा है। अभी उसकी हालत खतरे के बाहर बताई जा रही है। इधर, घटना के दो दिन बाद भी सूरजपोल चौकी पुलिस की ओर से पीड़िता का बयान नहीं लिया गया है। पीड़ित परिवार में कोई प्रभावशाली व्यक्ति नहीं है। इसलिए पुलिस पूरे मामले को नजरंदाज कर रही है। वहीं पुलिस द्वारा कार्रवाई करने से आजाद घुम रहे आरोपी युवक की ओर से अब भी पीड़िता को तंग किया जा रहा है।

सूरजपोल चौकी क्षेत्र के उपला भोईवाड़ा इलाके में सोमवार को घर की इकलौती नाबालिग ने अकेले में सल्फॉज की गोलियां खा लीं। बाद में घर पहुंची मां को पता चला तो वह बिना देर लगाए बेटी को लेकर हॉस्पिटल पहुंची। यहां उसका उपचार शुरू हुआ। पीड़िता ने परिवार को बताया कि वाकाबड़लिया (पाड़ी) बड़ोदिया चौकी क्षेत्र का रहने वाला समाज का एक लड़का है, जो उसे परेशान कर रहा है। फोन करके शादी करने के लिए कहता है। मना करने पर परिवार को तबाह करने की बात बोलता है। उसने कई बार जवाब दिया, लेकिन सोमवार को लड़के ने लगातार 3-4 फोन किए। इधर, परेशान बालिका ने अकेली मां को टेंशन से दूर रखने व लाज के डर से सुसाइड करने का निर्णय किया।

मामा ने बताया कि लड़का समाज का जरूर है, लेकिन शराबी और बदमाश किस्म का है। वह पहले भी उसकी भांजी को कई बार परेशान कर चुका है। लड़की के पिता नहीं हैं। उसकी मां मजदूरी कर घर का गुजारा करती है। कई बार तो वह खुद घर चलाने के लिए आर्थिक मदद करते हैं। मामा ने बताया कि घटना की सूचना सूरजपोल चौकी पुलिस दे दी गई थी। इधर, चौकी प्रभारी रघुवीर सिंह ने बताया कि वह अभी किसी दूसरे गंभीर किस्म के मामले की जांच में लगे हुए हैं। इसलिए लड़की के बयान नहीं ले पाए हैं। जल्द ही बयान लेकर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा।