महिला SHO ने 10 लाख लेकर तस्कर को पर्सनल कार से फरार कराया, सीसीफुटेज में हुआ सब रिकोर्ड

 
SHO SEEMA JAKHAD

 सिरोही। राजस्थान के बरलूट थाने की महिला SHO सीमा जाखड को तस्करों से सांठगांठ के आरोप में सस्पेंड कर दिया गया है। आरोप है कि लेडी एसएचओ ने पूरी डील वॉट्सऐप कॉल के जरिए की थी। एसपी के निर्देश पर तस्करों को पकड़ने गई सीमा जाखड़ ने तस्करों के सरगना से 10 लाख रुपए में डील कर ली।

शुरुआती जांच में सामने आया कि लेडी एसएचओ ने WhatsAppपर काल करके डील फाइनल की। फिर अपने पर्सनल गाड़ी में तस्करों को भागने में मदद भी की। आगामी 28 नवंबर को एसएचओ सीमा की शादी भी होने वाली है। उससे पहले कारनामे की पोल खुल गई। कई दिनों से एसएचओ सीमा जाखड़ सिरोही एसपी धर्मेंद्र सिंह के निशाने पर भी थी।

बरलूट थाना पुलिस द्वारा की गई डोडा-पोस्त के तस्कर पर कार्रवाई सवालों के घेरे में आ गई। 10 लाख रुपय की मोटी रिश्वत राशि लेकर तस्कर को गिरफ्तार नहीं कर फरार दिखाने का सौदा किया गया। इस मामले में बरलूट थानाधिकारी सीमा जाखड़ और तीन पुलिसकर्मियों की भूमिका संदिग्ध पायी गई है। मामले का उजागर होने पर पुलिस अधीक्षक ने बरलूट एसएचओ सीमा जाखड़ और तीन पुलिसकर्मियों सस्पेंड कर दिया।

जानकारी के मुताबिक, घटना बरलूट थाना इलाके में दो दिन की है। यहां बरलूट पुलिस ने ऊड गांव के पास एक होटल के नजदीक डोडा पोस्त तस्कर को पकड़ा था। तस्कर के पास से दो क्विंटल 10 किलो डोडा पोस्त से भरी गाड़ी पायी गई थी। लेकिन बाद में तस्कर ने पुलिस के साथ सौदेबाजी की कर ली। आरोप है कि थानाधिकारी सीमा जाखड़ और उनके साथ मौजूद तीन पुलिसकर्मियों ने तस्कर की गिरफ्तारी नहीं बताकर उन्हें मौके से फरार दिखाने का सौदा कर लिया। मामला 10 लाख रुपये में तय हुआ।

दस लाख रुपये की रकम जालोर जिले के सांचौर इलाके के एक गांव के सरपंच के माध्यम से पुलिस को भेजी गई। पुलिस और तस्कर के बीच हुई इस सौदेबाजी का पूरा घटनाक्रम होटल में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया। वहीं तस्कर को बस में बिठाकर भागने के सीसीटीवी फुटेज भी सामने आए हैं।

पूरे घटनाक्रम का जब पुलिस अधीक्षक धर्मेंद्र सिंह यादव को पता चला तो उन्होंने तुरंत कार्यवाही की। एसपी यादव खुद बरलूट थाना पहुंचे और होटल के सीसीटीवी फुटेज सहित प्रत्यक्षदर्शियों से मामले की जानकारी ली। मामले में थानाधिकारी सीमा जाखड़ और कांस्टेबल ओमप्रकाश, सुरेश और हनुमान की संदिग्ध भूमिका सामने आयी है। एसपी यादव ने सभी को सस्पेंड कर दिया है।