करवर थाने के बाहर शव रखकर कई घंटो से प्रदर्शन, हत्या का मामला दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग

जमीनी विवाद में हुए झगड़े में घायल व्यक्ति की हुई मौत
पोस्टमार्टम करवाकर पुलिस ने शव सौंपा तो थाने लेकर पहुंचे
 
करवर थाने के बाहर शव रखकर कई घंटो से प्रदर्शन

बूंदी। जिले के करवर थाना क्षेत्र के खजूरी गांव में दो दिन पुर्व जमीनी विवाद को लेकर हुए झगड़े में घायल व्यक्ति की रविवार को मौत के बाद पुलिस ने इंद्रगढ़ अस्पताल में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया। इधर, मृतक के नाराज़ परिजनो ने करीब दोपहर बारह बजे से करवर थाने के बाहर शव रखकर प्रदर्शन शुरू कर दिया जो रात 9 बजे तक जारी था। पुलिस प्रदर्शन कर रहे परिजनों से समझाइश करने में जुटी रही लेकिन वे नहीं माने। देर शाम को एसपी शिवराज मीना भी मौके पर पहुंचे और प्रदर्शनकारियों से वार्ता की।

जानकारी के अनुसार, शुक्रवार को खजूरी गांव में जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में झगड़ा हो गया था। झगड़े में खजूरी गांव का रहने वाला 55 वर्षीय रामपाल मीणा गंभीर घायल हो गया था। जिसका सवाई माधोपुर के हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था। हालत में सुधार नहीं होने पर चिकित्सको ने उसे जयपुर रेफर कर दिया। जिसने रविवार सुबह जयपुर ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया। जिसके बाद शव को इंद्रगढ़ अस्पताल की मोर्चरी लेकर पहुंचे। अस्पताल पहुंची पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

इसके बाद परिजन शव लेकर खजूरी गांव ले जाने के बजायें करवर थाने के बाहर पहुंच गए। जहां थाने के बाहर शव रखकर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। नारेबाजी कर रहे परिजनों ने आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग शुरू कर दी।

परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने समय रहते कार्रवाई नहीं की। शुक्रवार शाम को हुए झगड़े में घायल रामपाल मीणा को पुलिस ने करवर अस्पताल से सवाई माधोपुर अस्पताल में भर्ती कराया था। उसके बाद भी करवर पुलिस ने कार्यवाही करना तो दूर रिपोर्ट तक दर्ज नहीं की।

सूचना के बाद नैनवां डीएसपी कैलाश चंद जाट व करवर थाना प्रभारी मुकेश परिजनों से समझाइश की लेकिन वे नहीं माने। वहीं आसपास के थानो का पुलिस जाप्ता भी मौके पर तैनात किया गया है। बाद परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी सियाराम, दिनेश, नरेश, मीठालाल, हंशा बाई, अमलेक बाई, जगन्नाथी बाई, कल्पना, तुलसीराम, हंसराज, राजू व चार अन्य के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस का कहना है कि मृतक के शरीर पर कोई चोट का निशान नहीं है, ऐसे में पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्यवाही कि जाएगी। जबकि मृतक के परिजन हत्या का मामला दर्ज कर आरोपियो कि गिरफ्तारी पर अड़े हुए है।