कोटा, जोधपुर, उदयपुर सहित चित्तौड़गढ़ में सिगरेट चोर गैंग, कबूल की 4 करोड़ की चोरी, 5 गिरफ्तार

 
 सिगरेट चोर गैंग ने 4 करोड़ की चोरी कबूल की, 5 गिरफ्तार

कोटा। शहर के अनंतपुरा थाना पुलिस ने प्रदेश के अलग अलग जिलों में आईटीसी गोदाम से सिगरेट चोरी करने वाली गैंग के 5 सदस्यों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त कर 4 करोड़ की चोरी की वारदात का खुलासा किया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से 35 लाख का माल व 5.57 लाख रूपये भी नगद बरामद किए है। चोरी में प्रयुक्त दो वाहनों को जब्त किया है। गैंग का मुख्य सरगना कजोड़मल समेत तीन आरोपी फरार है। 

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीण जैन ने अनन्तपुरा थाने में पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि अनन्तपुरा थाना क्षेत्र में भामाशाह मंडी के पास रोड नंबर 6 पर स्थित आईटीसी के गोदाम से सिगरेट के 130 काटूर्न चोरी हुए थे। जिनकी बाजार कीमत 1 करोड़ से ज्यादा थी। वारदात के दौरान आरोपी सीसीटीवी कैमरे की डीवीआर भी खोलकर ले गए थे। इस आश्य की 26 अक्टूबर को लक्ष्मण शरण अग्रवाल ने चोरी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। शिकायत पर पुलिस ने कार्रवाई शुरू करते हुए घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज व तकनीकी साक्ष्य जुटाए। वारदात में इस्तेमाल किए गए वाहन का पता किया। इसके बाद चोर गिरोह के पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया। 

इन्हें किया गिरफ्तार
गिरफ्तार आरोपी राजेंद्र बेनीवाल (25) लालचंदपुरा थाना करधनी जयपुर, ब्रजमोहन (30) निवासी किरों का मोहल्ला गढ़ के पास, चौथ का बरवाड़ा, सवाई माधोपुर हाल निवासी सुशीलपुरा, शिव कॉलोनी, थाना सोडाला जयपुर, गीताराम (38) निवासी गणेश बस्ती, जिला सवाई माधोपुर, हाल निवासी जयपुर, प्रवीण कुमावत (27) पलाड़ा प्याऊ कुचामन, जिला नागौर, हाल निवासी गणगौरी बाजार, थाना फुलेरा जिला जयपुर, बिहारी लाल कुमावत (44) निवासी गणगौरी बाजार फुलेरा थाना, जयपुर ग्रामीण को गिरफ्तार किया है।

जांच के दौरान सामने आया कि आरोपियों ने 4 माह में प्रदेश के अलग- अलग जगह करीब 4 करोड़ की चोरी की वारदात को अंजाम दिया है। 9 अक्टूबर को चित्तौड़गढ़ के कोतवाली थाना क्षेत्र से लगभग 30 लाख की सिगरेट 4 लाख नगद, अगस्त महीने में उदयपुर के प्रताप थाना क्षेत्र में लगभग 53 लाख रुपए की सिगरेट, जोधपुर में चौपासनी हाउसिंग बोर्ड थाना क्षेत्र में लगभग 60 से 65 लाख की सिगरेट चोरी की है। इसके अलावा अजमेर में भी चोरी की वारदात को अंजाम दिया। गैंग का सरगना कजोड़मल समेत मुकेश व कमल अभी फरार हैं। जिनकी पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है।