बूंदी: अपहरण एवं दुष्कर्म का एक आरोपी गिरफतार, लिया 4 दिन का पीसी रिमांड, अब एएसपी करेगें मामले का सुपरविजन

 
gendoli thana police

बूंदी। जिले के गेंडोली थाने में महिला के अपहरण एवं बंधक बनाकर एक महीने तक दुष्कर्म करने के मामले में पुलिस ने घटना के मुख्य आरोपी हंसराज मीणा को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से उसे 4 दिन के पीसी रिमांड पर भेज दिया है। गौरतलब है कि मामले की पीड़िता ने पिछले दिनों बूंदी शहर के आजाद पार्क स्थित पानी की टंकी पर चढ़कर जांच बदलवाने की थी। वहीं, जिला पुलिस अधीक्षक जय यादव ने बताया कि मामले निष्पक्ष कार्यवाही करने के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक किशोरीलाल को सुपरविजन करने के लिए कहा है।

जानकारी के अनुसार गेंडोली थाने में 12 अक्टूबर को दर्ज हुए महिला के अपहरण एवं बंधक बनाकर एक महीने तक सामूहिक दुष्कर्म करने के मामले में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। पीड़िता के अनुसार आरोपियों द्वारा पीड़िता का खटकड़ से अपहरण कर केशोरायपाटन एवं गुड़गांव ले जाकर दुष्कर्म किया गया था। पीडिता की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर मेडिकल जांच एंव 164 के बयान कराये। मामले की जांच लाखेरी पुलिस उप अधीक्षक को सौंपी गई थी। मामले की पीड़िता ने न्याय नहीं मिलने पर जिला पुलिस अधीक्षक व कोटा रेंज के आईजी सहित अन्य अधिकारियों से भी न्याय की गुहार लगाई।

लेकिन पीड़िता गेंडोली थाना पुलिस व लाखेरी पुलिस उपाधीक्षक की कार्यवाही से संतुष्ट नहीं हुई और वह तीन दिन पूर्व बूंदी शहर के आजाद पार्क स्थित पानी की टंकी पर पेट्रोल की बोतल लेकर गई थी। करीब डेढ़ घंटे पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की मशक्कत के बाद नीचे उतरी जिसे कोतवाली थाना पुलिस ने पाबंदकर छोड़ दिया। उक्त प्रकरण को जिला पुलिस अधीक्षक जय यादव ने गंभीरता से लिया और गेंडोली थाना पुलिस को जल्द कार्यवाही करने के निर्देश दिए। जिस पर गेंडोली थाना पुलिस ने आज शनिवार को घटना के आरोपी हंसराज मीणा को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से उसे 4 दिन की पीसी रिमांड पर लिया गया है।

वहीं, पीड़िता द्वारा जांच बदलने एवं आरोपियो के खिलाफ कार्यवाही कर न्याय दिलाने की मांग पर जिला पुलिस अधीक्षक जय यादव ने मामले की गंभीरता से जांच के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक किशोरी लाल को सुपरविजन करने के निर्देश दिये है।