आहोर SDM को नामांतरण आदेश जारी करने के एवज में 40 हजार की रिश्वत लेते ACB ने किया गिरफ्तार

 
JALOR AAHOR SDM TREP TO ACB

जालोर। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरों (ACB) की टीम ने आहोर SDM को 40 हजार रुपए की रिश्वत लेते सोमवार शाम रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। एसीबी ने यह कार्रवाई एसडीएम के सरकारी आवास पर की गई। फिलहाल एसडीएम से एसीबी पूछताछ में जुटी है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ. महावीर सिंह राणावत ने बताया कि आहोर एसडीएम मांसिगाराम जांगिड़ ने रिश्वत की मांग की है। वह तारातरा, बाड़मेर का रहने वाला है। पहले वह किसी दूसरे विभाग में था। आरएएस में चयन हुआ तो एसडीएम बन गया। पिछले 2 वर्षों से आहोर में एसडीएम के पद पर है।

परिवादी जालोर शहर निवासी लक्ष्मण सिंह सांखला कांग्रेसी पार्षद ने उसकी बहन के ससुराल में म्यूटेशन (विरासत का नामांतरण) के लिए आहोर एसडीएम के पास अपील की थी। पिछले एक साल से एसडीएम आदेश पारित नहीं कर रहा था। उसके एवज में 50 हजार रुपए की परिवादी पक्ष से रिश्वत की डिमांड करने लगा।

परेशान होकर पीड़ित ने एसीबी में शिकायत दी। एसीबी टीम ने ट्रैप योजना बनायी। शिकायत के पुख्ता होने के बाद सोमवार को परिवादी को रिश्वत की रकम देकर भेजा गया। रिश्वत के 40 हजार रुपए लेते ही एसीबी टीम सरकारी आवास के अंदर पहुंच गई और मांसिगाराम को पकड़ लिया। फिलहाल, अनुसंधान जारी है।