सरकारी स्कूल के टीचर ने 12वीं की छात्रा से की छेछ़छाड़ तो हुआ सस्पेंड, अब उसी छात्रा को ले भागा अध्यापक

 
Government school teacher molested a 12th student, then it was suspended, now the teacher took the same girl away

डूंगरपुर। जिले के धंबोला थाना इलाके में गुरु-शिष्या के रिश्तों को शर्मसार करने वाला मामला (Shameful case of teacher-disciple relationship) सामने अया है। यहां के एक सरकारी स्कूल का एक टीचर अपनी ही छात्रा को भगाकर ले गया (A government school teacher took away her own student) । हैरत की बात यह है कि इस टीचर को एक महीने पहले ही शिक्षा विभाग ने छात्रा से छेड़छाड़ के आरोप में निलंबित कर दिया था। टीचर को जिस छात्रा से छेड़छाड़ के आरोप में सस्पेंड किया गया था वह अब उसी को भगाकर ले गया है। पुलिस ने टीचर के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कर आरोपी टीचर की तलाश शुरू कर दी है। लेकिन अभी तक उसका कोई सुराग नहीं लगा है।

धंबोला थानाधिकारी भैयालाल ने बताया की सीमलवाड़ा ब्लॉक के एक सरकारी स्कूल के टीचर भूरालाल रोत निवासी उंदरडा पर 12वीं कक्षा की एक छात्रा के परिजनों ने छेड़छाड़ के आरोप लगाए थे। इस पर डीईओ प्रारंभिक डूंगरपुर ने मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी लक्ष्मण कुमार डामोर को जांच के आदेश दिए थे। जांच में आरोपी शिक्षक भूरालाल रोत के दोषी पाए जाने पर विभाग ने उसे गत 22 मार्च को निलंबित कर दिया था।

निलंबन काल के दौरान टीचर भूरालाल को डीईओ प्रारंभिक में ड्यूटी देने के निर्देश दिए थे। लेकिन इस बीच टीचर भूरालाल अब उसी छात्रा को भगाकर ले गया जिससे छेड़छाड़ के आरोप लगे थे। इस संबंध में 12वीं कक्षा में पढ़ने वाली नाबालिग छात्रा के पिता ने रिपोर्ट देकर बताया की आरोपी टीचर भूरालाल रोत उसकी बेटी को पत्नी बनाने की नियत से भगा ले गया है। बेटी को काफी तलाश किया लेकिन उसका पता नहीं चल सका।

धंबोला थानाधिकारी भैयालाल ने बताया की टीचर के खिलाफ अपहरण का केस दर्ज कर लिया है। मामले की जांच एसआई बंशीलाल कर रहे हैं। पुलिस नाबालिग छात्रा की बरामदगी के साथ आरोपी शिक्षक की तलाश में जुटी है। लेकिन फिलहाल उसका कोई सुराग नहीं लगा है। छात्रा के पिता ने उसकी बेटी को जल्द तलाश कर उसे सुपुर्द करने की मांग की है।