in ,

बेटियों का भाग्य संवारने में लगी है भाग्यश्री सैनी, अब तक 2200 बेटियों को किया लाभान्वित

Bhagyashree Saini is engaged in improving the fortune of daughters, has benefited 2200 daughters so far

जयपुर। राजस्थान प्रदेश के झुन्झुनूं जिला निवासी भाग्यश्री सैनी (Bhagyashree Saini) कहती हैं कि इस युग में कोई भी कार्य असंभव नहीं है, बस उसे करने के जज़्बां और उत्साह होना चाहिए।

कार्य की शुरुआत के लिए न उम्र बाधा बनती है और न ही हालात, अगर कुछ कर गुजरने का जज़्बा हो तो मुश्किल राहें भी आसान हो जाती हैं, ऐसे ही एक जज़्बे के को लेकर 2020 से बेटियों के भाग्य को संवारने में लगी हुई है समाज सेविका, वुमन एंड चाइल्ड राइट्स एक्टिविस्ट भाग्यश्री सैनी (Bhagyashree Saini)।

जी हां, भाग्यश्री सैनी (Bhagyashree Saini) अभी तक हजारों ड्रॉपआउट (जो किसी कारणवंश अपनी पढ़ाई को बीच में छोड़ चुकी थी) बेटियों का भाग्य बदल चुकी है। समाज में बहुत सी बेटियां अपने जीवन की विपरीत परिस्थितियों में स्कूल छोड़ देती है, परन्तु अब ऐसी बेटियों को सुशिक्षित करने में भाग्यश्री सैनी एक उम्मीद की किरण बनकर उभर रही है।

मुख्य प्रयास:-

  • बेटियों में शिक्षा की अलख जगाकर समाज की मुख्यधारा में लाने का प्रयास।
  • बेटियों को शिक्षित, जागरूक, स्वाभिमानी सशक्त तथा आत्मनिर्भर बनाना।
  • देश की एक भी बेटी शिक्षा से वंचित नहीं रहे।
  • आधुनिक समयानुसार बेटियों को वो हर प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध करवाये जिससे वह अपना और देश का नाम रोशन कर सके।

अभियान
भाग्यश्री सैनी (Bhagyashree Saini) “राजस्थान अनसंग स्टार्स अभियान” चला रही हैं। जिसके अंतर्गत वे राजस्थान प्रदेश की ड्रॉपआउट (जो अपनी पढ़ाई को छोड़ चुकी है) बेटियों सर्वांगीण विकास के लिए कार्य कर रही हैं। गौरतलब है कि वो अभी तक करीब 2200 आदिवासी- मुस्लिम और अन्य बेटियों को इस अभियान से लाभान्वित कर चुकी है।

इस कार्य में भाग्यश्री सैनी (Bhagyashree Saini) को समाज के लोगों से भी भरपूर सहयोग मिल रहा है। उनके साथ समाज मंे डॉक्टर, वकील, शिक्षाविद और अन्य समाजसेवी भी जुड़कर बेटियों के सपनों को साकार करने में लगे हुए हैं।

भाग्यश्री सैनी (Bhagyashree Saini) बताती है कि अभियान का परम लक्ष्य बेटियों का सर्वांगीण विकास करना है। बेटियों का शारीरिक, मानसिक व सामाजिक उत्थान करना है। अभियान के तहत बालिकाओं का मनोवैज्ञानिक व व्यावहारिक अध्ययन हेतु डोर टू डोर विजीट किया जाता है।

स्कॉलरशिप व्यवस्था:-
बेटियों के मनोबल को बढ़ाने के लिए “राजस्थान अनसंग स्टार्स अवार्ड”, व “राजस्थान अनसंग स्टार्स स्कॉलरशिप” भी प्रदान की जाती है।

बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने हेतु कार्यक्रम:-
बेटियां अपने जीवन में पूरी तरह शिक्षित बने, सुरक्षित रहे व अन्य विभिन्न समस्याओं से निपटने में सक्षम रहे उद्देश्य से एक सप्ताह का इन्द्रधनुष कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। जिसमें बेटियां पुलिस संवाद, चिकित्सीय परामर्श, निःशुल्क चिकित्सा शिविर, सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग, शिक्षा से संबंधित एक्सपर्ट द्वारा सेमिनार -वेबीनार, साइबर सुरक्षा जागरूकता, चाइल्ड एक्सपर्ट, आहार सेवन विधि संबधित विषयों पर जागरूकता इत्यादि प्रकार के अनेकों कार्यक्रम आयोजित करवाये जाते है।

गौरतलब है कि समाजसेविका भाग्यश्री सैनी (Bhagyashree Saini) को “ग्लोबल अचीवर्स अवॉर्ड, वूमैन अचीवर्स अवॉर्ड” से सम्मानित किया जा चुका है। सामाजिक संगठनों द्वारा भी भाग्यश्री सैनी को समाज हित कार्याे में सक्रिय भूमिका निभाने के लिए सम्मानित किया गया है।

ऐसी ही खबरो को पढने और अपडेट रहने के लिए फॉलो करे  Facebook     Twitter     YouTube     Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Wife absconded with lover, husband played drum, then shaved his head, asked police to get wife or else

प्रेमी संग फरार हुई पत्नी, पति ने बजाया ढोल, फिर मुंडवाया सिर, पुलिस से कहा-बीवी दिला दो वरना…

Bike rider teacher seriously injured due to uncontrollable high speed tractor-trolley collision

तेज रफ्तार बेकाबू ट्रैक्टर-ट्रॉली बाईक सवार शिक्षक को टक्कर मार पलटी, बाईक हुई चकनाचूर