in

जन आक्रोश रैलियों के माध्यम से भाजपा, जन संकट बनीं कांग्रेस सरकार के विरुद्ध व्यापक जन जागरण करेगी- अरविन्द सिसोदिया


कोटा। भाजपा जन आक्रोश रैली के जिला मीडिया संयोजक एवं भाजपा  राजस्थान के प्रदेश सह संयोजक मीडिया संपर्क विभाग अरविन्द सिसोदिया ने बताया कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया के नेतृत्व में दिसम्बर 2022 के प्रथम दिन से पूरे राजस्थान में एक साथ जन आक्रोश आंदोलन प्रारंभ होगा। जिस में 1 दिसंबर को जन आक्रोश रथों का जिला स्तरों पर एक साथ उद्घाटन एवं 4 दिसंबर से विधानसभा स्तरों पर  रैलियां, जन आक्रोश रथों पर निकलेंगी एवं प्रत्येक विधान क्षेत्र में दस-दस दिनों तक के प्रवास पर रहते हुये, व्यापक जन जागरण कर राज्य की कांग्रेस सरकार की विफलताओं को उजागर करेंगीं। आगामी चुनाव में कांग्रेस की राज्य सरकार को उखाड़ फेकेंगे।

सिसोदिया ने बताया कि राजस्थान में कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार, गठन वाली दिनांक 17 दिसम्बर 2018 से ही कुर्सी युद्ध एवं आपसी खींचतान में व्यस्त रहते हुये लोक कल्याण में पूरी तरह विफल रही है तथा 4 साल से जनता को संकट एवं कष्टों में डाले हुए है। राजस्थान भाजपा लगातार जनहित के मुद्दे विविध आंदोलनों के माध्यम से उठाती आ रही है। इस विफल सरकार को जनहित के लिये जाग्रत करने एवं अगले चुनाव 2023 में राजस्थान से विदा करने के लिये, जन आक्रोश रैलीयों के माध्यम से व्यापक जनजागरण किया जावेगा। भाजपा जनता की समस्याओं एवं कष्टों की आवाज बन कर मुद्दों को मुखर करेगी।

उन्होने बताया कि इस हेतु विधानसभाओं के स्तर पर दस दिन के अभियान में राजस्थान भाजपा के 600 से अधिक दायित्ववान कार्यकताओं सहित लाखों कार्यकर्ता जुटेंगे, प्रत्येक जिले का एवं प्रत्येक  विधानसभा का आरोप पत्र जारी होगा, जिला मुख्यालयों पर प्रेस वार्तायें होंगी। विधानसभावार प्रेसवार्तायें होंगीं। 

भाजपा मीडिया संयोजक सिसोदिया ने बताया कि पार्टी के इस व्यापक जन आंदोलन के लिए हर विधानसभा सीट पर अलग-अलग रणनीति तैयार की है। हर सीट के लिए यात्रा प्रभारी एवं यात्रा संयोजक नियुक्त किये गये है। साथ ही हर सीट पर होने वाले सम्मेलनों एवं सभाओं की अलग-अलग रूपरेखा तैयार की गई है। प्रत्येक सीट पर पांच से सात सम्मेलन/लघु सभाएं  की जावेँगी।

उन्होने बताया कि राजस्थान में 200 विधानसभाओं में हर सीट के लिए अलग-अलग यात्रा रथ तैयार की गए है। स्थानीय मुद्दों को जोड़ते हुए इन रथों की सजावट भी की जा रही है। भाषण देने वालों से लेकर यात्रा का नेतृत्व करने वालों के नाम तय किए गए है। जन आक्रोश यात्रा के रथ पूरे राजस्थान में सभी विधानसभाओं में एक साथ, हर विधानसभा क्षेत्र में दस दिनों तक घूमेगा।

मीडिया संपर्क विभाग के  प्रदेश सह संयोजक अरविन्द सिसोदिया ने बताया कि जन आक्रोश यात्रा रथ, राजस्थान भाजपा के सभी 1100 मंडलों और 52 हजार मतदान केन्द्रों को कवर करेंगे। हर विधानसभा क्षेत्र में पार्टी के जिलाध्यक्ष, वर्तमान विधायक, जनप्रतिनिधिगण, पूर्व भाजपा प्रत्याशी, पदाधिकारी, विभिन्न मोर्चों के सदस्य आदि सहित भाजपा कार्यकर्ता एवं भाजपा समर्थक सम्मिलित होंगे।

सिसोदिया नें बताया कि यह यात्रा पूरी तरह जन आकांक्षाओं का प्रतिबिंब है। पार्टी रथ में विशेष रूप से शिकायती पेटी लगाई जाएगी। जिसमें जनता से सरकार के खिलाफ शिकायत लिखित में ली जाएंगी। इस डाटा को, जनता का फाइनल आरोप पत्र, राज्य सरकार के खिलाफ बनाने एवं हर विधानसभा वार मुद्दे तैयार करने में पार्टी काम में लेगी। वहीं प्रदेश सरकार के खिलाफ जनता में चर्चित मामलों की जानकारी भी जुटाएगी।

सिसोदिया ने बताया कि इस रथ यात्रा के लिए रथ के रूप में तैयार किये वाहन में कुछ लोगों के बैठने सहित माइक, सजावट की व्यवस्था भी रहेगी। सभी रथों पर प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीरों, केंद्र सरकार की योजनाओं और बीजेपी की नीतियों के पोस्टर चस्पा होंगे। यह रथ बहुत से स्थानों पर रुकेंगे, वहां छोटी-छोटी सभाएं भी होंगी। एक तय रूट चार्ट भी बनाया जा रहा है। सभाओं में लोगों को प्रदेश की कांग्रेस सरकार की विफलताओं, बिगड़ती कानून व्यवस्था एवं वादा खिलाफी बारे में बताया जाएगा।
 

Written by CITY NEWS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

झालावाड : 15 दिनों से ट्रांसफार्मरों के लिए किसान लगा रहे बिजली विभाग के चक्कर, फसले सूखने के कगार पर

रेजोनेंस के स्टार्ट में अब तक 1.5 लाख विद्यार्थी हुए सम्मिलित, रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि 2 दिसंबर