in

विवेकानंद संदेश यात्रा आज कोटा पहुंचेगी, निकलेगी भव्य शोभायात्रा


कोटा। आज़ादी के अमृत महोत्सव (Amrit Mahotsav of Independence) के तहत संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार के सौजन्य से विवेकानंद केंद्र कन्या कुमारी के राजस्थान प्रांत द्वारा विवेकानंद संदेश यात्रा (vivekananda message tour) निकाली जा रही है। यात्रा विभिन्न जिलों से होते हुए सोमवार को कोटा पहुंचेगी। 

यात्रा के संयोजक सीताराम गोयल तथा सहसंयोजक विकास शर्मा ने बताया कि विवेकानंद संदेश यात्रा  के तहत दोपहर 3 बजे से विशाल शोभायात्रा निकाली जाएगी। जो तलवंडी चौराहे से प्रारंभ होकर केशवपुरा चौराहा, तीन बत्ती सर्किल, दादाबाड़ी छोटा चौराहा से होते हुए दादाबाड़ी बड़े चौराहे पर संपन्न होगी। शोभायात्रा में 4 सजीव झांकियां होंगी। 

वहीं 75 विद्यार्थी युवा संन्यासी स्वामी विवेकानंद का प्रतिरूप धरे चलेंगे। साथ ही, 75 युवा मोटर बाइक पर तिरंगा लेकर शामिल होंगे। इस दौरान युवतियां भगवा साफा पहनकर साथ चलेंगी। शोभायात्रा के समापन पर दादाबाड़ी बड़े चौराहे पर एलईडी के माध्यम से विवेकानंद केंद्र की गतिविधियों से अवगत कराया जाएगा।

विवेकानंद केंद्र के महानगर संपर्क प्रमुख पवन सिंह ने बताया कि मंगलवार को प्रातः 7 बजे छत्र विलास उद्यान से श्रन फॉर विवेकानंदश् का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान युवा साढ़े तीन किलोमीटर का चक्कर लगाते हुए दौड़ करेंगे। दौड़ में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी और संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार की ओर से सर्टिफिकेट व टीशर्ट वितरित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि मंगलवार को ही विभिन्न स्कूलों में स्वामी विवेकानंद पर व्याख्यान माला का आयोजन किया जाएगा। इसी दिन शाम 6 बजे महावीर नगर स्थित श्रीरामशांताय सभागार में अमृत परिवार संगोष्ठी आयोजित होगी। जिसमें जिला कलेक्टर ओपी बुनकर तथा संत निरंजननाथ अवधूत अतिथि के रुप में उपस्थित रहेंगे। इस अवसर पर परिवार प्रबोधन पर व्याख्यान होगा।

विवेकानंद केंद्र के नगर प्रमुख संजीव जारेड़ा ने बताया कि यात्रा कन्याकुमारी शिला स्मारक के संस्थापक एकनाथ रानाडे की जयंती साधना दिवस 19 नवंबर को रामकृष्ण मिशन विवेकानंद स्मृति मंदिर खेतड़ी से उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ के द्वारा शुरु की गई थी। यह यात्रा 33 जिलों के 75 स्थानों से होते हुए 50 दिन पूर्ण कर 7 जनवरी को शिला स्मारक स्थापना दिवस पर जोधपुर में संपन्न होगी। यात्रा के दौरान खेतड़ी, अलवर, अजमेर, जयपुर, सिरोही, आबू पर्वत जैसे स्थानों पर विशेष आयोजन हो रहे हैं। विवेकानंद यात्रा के साथ 15 फीट की स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा से सज्जित रथ के साथ 35 कार्यकर्ता चल रहे हैं। विवेकानंद केंद्र के वर्ष 2023 में 50 वर्ष पूर्ण होंगे।
 

Written by CITY NEWS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खनिज विभाग कि कार्यवाही, बिना रवन्ना मेसेनरी स्टोन से भरी तीन ट्रैक्टर ट्रॉली जप्त

फोकस होकर प्रयास करें सफलता जरूर मिलेगी- नितिन विजय