in

भारत जोड़ो यात्रा में राहुल गांधी ने कहा- स्पीकर बिरला का चेहरा संसद टीवी को पसंद, 24 घंटे उन्हें दिखाते हैं

कोटा। कांग्रेस नेता राहुल गांधी के नेतृत्व चल रही भारत जोड़ो यात्रा के तहत कोटा के केबलनगर में बुधवार को नुक्कड़ सभा का आयोजन (Nukkad Sabha organized on Wednesday in Kota’s Cablenagar under Bharat Jodo Yatra) हुआ। इसमें राहुल गांधी ने संसद में बोलने नहीं दिए जाने की बात कही (Rahul Gandhi spoke of not being allowed to speak in Parliament)। साथ ही कहा कि संसद टीवी को कोटा से आने वाले स्पीकर ओम बिरला का चेहरा अच्छा लगता है। 24 घंटे उन्हें ही दिखाते हैं, राहुल गांधी ने कहा कि हम बेरोजगारी, महंगाई, जीएसटी, किसानों की समस्या व नोटबन्दी पर बोलना चाहते हैं, लेकिन बोलने नहीं दिया जाता है। हम भाषण देना चाहें, तब माइक बन्द कर दिया जाता है। इसके साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार को ईस्टर्न राजस्थान कैनाल प्रोजेक्ट के मुद्दे पर भी घेरा है।

In Bharat Jodo Yatra, Rahul Gandhi said- Parliament TV likes Speaker Birla's face, shows him 24 hours

 उन्होंने कहा कि ईआरसीपी से 13 जिलों को सिंचाई और पीने का पानी देंगे, केंद्र सरकार ने इस प्रोजेक्ट को नेशनल प्रोजेक्ट घोषित करने की बात कही थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ही यह वादा किया था, लेकिन वादा पूरा नहीं किया है। अब जब राजस्थान सरकार यह प्रोजेक्ट बना रही है तो केंद्र रोक रहा है। 

राहुल गांधी ने कहा कि सभी ठेके और काम बड़े उद्योगपतियों को दिए जा रहे हैं। इनमें सेना से लेकर सभी ठेके शामिल हैं, यह बड़े उद्योगपति रोजगार नहीं देते हैं। उन्होंने कहा कि छोटे उद्योगों को जीएसटी व नोटबंदी से बंद करवा दिया है। हमने कर्जा माफी का वादा आम जनता से किया था और 22 लाख किसानों का कर्जा माफ किया। उन्होंने कहा कि राजस्थान सरकार ने चिरंजीवी योजना के तहत कई बड़ी बीमारियों का इलाज निःशुल्क करवाया है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राहुल गांधी राजनेता की जगह जन नेता बन रहे हैं। उन्होंने लोगों में विश्वास जमाया है, राहुल गांधी की हर बात मायने रखती है। राहुल गांधी ने जनता को डरो मत का वादा दिया है। गहलोत ने कहा कि राहुल गांधी की भावना है, वही राजस्थान प्रदेश की जनता और सरकार की भावना है। उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि राजनीति में घमंड नहीं चलता है, विपक्ष को बोलने नहीं दिया जाता, इसके विरोध में राहुल गांधी सड़कों पर उतरे हैं। केंद्र सरकार ने दो करोड़ नौकरियां देने का वादा नहीं किया, लेकिन राजस्थान सरकार ने 3.55 लाख नौकरियां दी है। 

डोटासरा ने जैसे ही सचिन पायलट का नाम लिया और कहा कि पूर्व उप मुख्यमंत्री और पूर्व पीसीसी सचिव राहुल गांधी का स्वागत करेंगे, इसके बाद अपनी कुर्सी से उठकर सचिन पायलट माइक के नजदीक गए थे, तभी बिजली चली गई। सचिन पायलट ने करीब 3 मिनट तक बिजली आने का इंतजार किया। लाइट थोड़ी देर बाद आ गई, लेकिन साउंड सिस्टम चालू नहीं हुआ। उसके लिए फिर सचिन पायलट ने 2 मिनट इंतजार किया, उसके बाद अपना स्वागत भाषण दिया। भारत जोड़ो यात्रा में पहली बार यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल भी मंच पर बैठे नजर आए।

 हाल ही में राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी नियुक्त किए पंजाब के पूर्व डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा भी मंच पर बैठे। डोटासरा ने मंच संचालन करते हुए कहा कि प्रभारी बनने के बाद में पहली बार राजस्थान आए हैं और कोटा की धरती पर ही उनका आगमन हुआ है। 

राहुल गांधी ने मंच से कहा कि कोई भी व्यक्ति उनसे मिलकर सवाल-जवाब कर सकता है। इसी दौरान एक बालिका ने हाथ ऊंचा किया। जिससे मिलने के लिए राहुल गांधी पहुंचे। यह बालिका केबलनगर निवासी बीबीए फाइनल की स्टूडेंट कोयल गहलोत थी। वह अपने पिता धीरज गहलोत के साथ सभा में पहुंची थी। इस बालिका ने गांव केबल नगर को राजस्व गांव घोषित करने की मांग की थी, इस संबंध में राहुल गांधी ने उनकी मांग पूरी करने का वादा भी किया।

Written by CITY NEWS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

भारत जोड़ो यात्रा से लौट रही गाड़ी को ट्रेलर ने मारी टक्कर, चालक की मौत

बूंदी जिले में भारत जोड़ो यात्रा के दोरान 8 दिसंबर से 12 दिसंबर तक ये रहेगी यातायात व्यवस्था