in

जोधपुर : शादी समारोह में गैस सिलेंडर फटने से 60 जने झुलसे, 2 बच्चों की मौत, सीएम गहलोत ने कलेक्टर को दिए ये निर्देश

जोधपुर। जिले के शेरगढ़ के समीप भूंगरा गांव में एक शादी समारोह के दौरान गैस सिलेंडर फटने से 2 बच्चों कि मौत (2 children died due to gas cylinder explosion during wedding ceremony) हुई है हादसे में करीब 60 लोग झुलस गए है। 48 झुलसे लोगो को जोधपुर रेफर किया (About 60 people have been burnt in the accident. 48 scorched people referred to Jodhpur) गया है। विवाह समारोह में पांच सिलेंडर फटने से आग लग गई। इस मौके पर अफरातफरी मच गई। टेंट में मौजूद लोग आग की लपटों में घिर गए। इनमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल है। 

थानाधिकारी देंवेंद्र सिंह के अनुसार इस हादसे में 50 से ज्यादा लोग झुलस गए है। सूचना मिलते ही पुलिस ने आसपास के टैंकरों से आग को बूझाने का प्रयास किया। इसके बाद जोधपुर, बालोतरा से फायर ब्रिगेड भेजी गई है। हादसे में 2 बच्चों की मौत हुई है। जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता और ग्रामीण एसपी अनिल कयाल मौके पर पहुंच गए है। 

पुलिस के अनुसार शेरगढ़ के भूंगरा निवासी सगत सिंह गोगादेव के पुत्र की गुरुवार को शादी है। बारात रवाना होने वाली थी, उससे पहले सभी एकत्रित थे। इस दौरान हलवाइयों के पास लगे सिलेंडर में हुए रिसाव ने आग पकड़ ली, इस बीच अचानक विस्फोट हो गया और एक के बाद एक पांच सिलेंडर फट गए। जिससे पांडाल में आग लग गई। जिसकी वजह से खाना खा रहे लोग चपेट में आ गए।  आग की चपेट में सगत सिंह और उसका दूल्हा बेटा भी शामिल है। सिलेंडर फटने से घर की छत फट गई। गंभीर रूप से घायलों का इलाज जारी है। सीएम अशोक गहलोत ने जोधपुर के जिला कलेक्टर से वार्ता कर जरूरी दिशा निर्देश दिए है।

सीएम गहलोत ने ट्वीट कर कहा-जोधपुर में विवाह कार्यक्रम में आगजनी की घटना को लेकर जिला कलेक्टर से वार्ता कर निर्देश दिए हैं। सभी घायलों को समुचित उपचार सुनिश्चित किया जाएगा। मैं सभी घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं। सीएम गहलोत ने जोधपुर के कलेक्टर को किसी भी प्रकार की लापरलाही नहीं बरतने के निर्देश दिए है। 

Written by CITY NEWS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जयपुर : बेकाबू बस ने सड़क पर खड़ी बहन और दो भाई समेत तीन को कुचला, तीनों कि मौत

भारत जोड़ो यात्रा से राहुल गांधी, सोनिया और प्रियंका के पास रणथम्भौर में क्यों पहुंचें, क्या गहलोत-पायलट पर ले सकते हैं फैसला