in ,

मुख्यमंत्री गहलोत आज से तीन दिवसीय गुजरात दौरे पर, विधानसभा चुनाव को लेकर करेगें नेताओं से बात

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) मंगलवार को गुजरात दौरे पर रहेगे। गुजरात के सीनियर ऑब्जर्वर (Senior Observer of Gujarat) मुख्यमंत्री अशोक गहलोत 16 अगस्त से तीन दिवसीय दौरे पर रहेगें। वे आज जयपुर से विशेष विमान से 9 बजे रवाना होकर 10ः30 बजे सूरत पहुंचकर वहा 11 बजे सूरत संभाग के नेता और कार्यकर्ताओं की बैठक करेंगे। सीएम गहलोत शाम 5ः30 बजे सूरत से रवाना होकर 6ः30 बजे राजकोट पहुंचेंगे जहां वे राजकोट संभाग के नेताओं की बैठक करेंगे और रात 10 बजे बड़ोदरा चले जाएंगे। रात्रि विश्राम बड़ोदरा में करेंगे।

 17 अगस्त को बड़ोदरा संभाग के नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ 11 बजे बैठक करेंगे। सीएम गहलोत शाम 5ः30 बजे बड़ोदरा से रवाना होकर शाम 6 बजे अहमदाबाद पहुंच जाएंगे। रात्रि विश्राम अहमदाबाद करेंगे। 18 अगस्त को प्रातः 11ः30 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे और शाम 6 बजे गुजरात के प्रवक्ताओं और विभिन्न नेताओं के साथ बैठक करेंगे। रात्रि को 8 बजे अहमदाबाद से विशेष विमान से रवाना होकर जयपुर आ जाएंगे। 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत विधानसभा चुनाव के सिलसिले में कांग्रेस नेताओं से मुलाकात करेंगे। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने 12 जुलाई को राज्य विधानसभा चुनाव के लिए वरिष्ठ पर्यवेक्षक नियुक्त किया था। इसके बाद गहलोत का ये गुजरात का पहला आधिकारिक दौरा होगा।

2017 में भी रणनीतिकार थे गहलोत 
गुजरात राज्यसभा चुनाव में भी कांग्रेस के दिवंगत हो चुके दिग्गज नेता अहमद पटेल की जीत को भाजपा के मुंह से खींचकर लाने में भी गहलोत ही मुख्य रणनीतिकार थे। कांग्रेस आलाकमान ने एक बार फिर सीएम अशोक गहलोत पर विश्वास जताया है। गहलोत अपनी चतुराई से गुजरात विधानसभा चुनाव में एक बार फिर मोदी-अमित शाह का खेल बिगाड़ सकते हैं। कांग्रेस आलाकमान ने हाल ही में सीएम अशोक गहलोत को गुजरात चुनाव के लिए वरिष्ठ पर्यवेक्षक नियुक्त किया है। 1995 से लगातार गुजरात में चुनाव जीतती आ रही भाजपा का 2017 के चुनाव में सबसे कमजोर प्रदर्शन था। यह माना जाता है कि 2017 के विधानसभा चुनाव के आखिरी दौर में अगर पीएम मोदी ने चुनाव प्रचार की कमान नहीं संभाली होती तो शायद भाजपा की सरकार नहीं बन पाती। सीएम गहलोत ने गुजरात में सत्ता पलट के भाजपा के ऑपरेशन लोटस को भी धराशाही किया था। 

अशोक गहलोत के अलावा मंत्रिपरिषद के सदस्यों और विधायकों को भी गुजरात में चुनावी कमान सौंपी है। पार्टी ने गुजरात के 37 में से 23 पर्यवेक्षक राजस्थान के लगाए है। प्रदेश के जिन नेताओं को गुजरात विधानसभा में पर्यवेक्षक लगाया गया है, उनमें शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला, सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना, राजस्व मंत्री रामलाल जाट, खेल मंत्री अशोक चांदना और खनन एवं गौपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया जैसे बड़े चेहरे शामिल है। साथ ही सुखराम विश्नोई, सुरेश मोदी, अमित चाचाण, अर्जुन बामणिया, गोविंद राम मेघवाल और विधायक राजकुमार शर्मा को जिम्मेदारी दी है। ये सभी विधायक और मंत्री अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों में रायशुमारी कर टिकट देने की अनुशंषा पार्टी आलाकमान से करेंगे। गहलोत के मंत्रियों और विधायकों की सिफारिश पर ही जिताऊ उम्मीदवार को टिकट दिया जाएगा। 

 

Written by CITY NEWS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

रात भर महिला टीचर के घर में कैद रहे एसडीएम, लोग बाहर ताला लगाकर बैठ गए, पुलिस बुलाई और मुंह छिपाकर भागे

जालौर के निजी स्कूल में दलित छात्र की हत्या के विरोध में उनियारा अंबेडकर मंच-सर्व समाज ने निकाली रैली