in

राजस्थान पर्यटन विभाग की तरफ से वीव वॉक के दूसरे संस्करण को समर्थन

जयपुर। अगर हम ये कहें कि हमने अपने बच्चों से धरती उधार ली है तो हमें एक ऐसा ईको सिस्टम बनाने की जरूरत (There is a need to create such an eco system) है जो आधुनिक हो लेकिन संस्कृति से भरपूर हो। Make in India को हमारे शिल्पकारों को संरक्षित करने के लिए कौशल और प्रौद्योगिकी (skills and technology) भी प्रदान करनी चाहिए। भारत में लगभग 55.5 मिलियन सीमांत श्रमिक हैं जो 6 महीने से कम समय के लिए कार्यरत रहते हैं।

बुनकर कपड़ा उद्योग की संपत्ति हैं जो इस शिल्प कला को पिता से पुत्र और आने वाली पीढ़ियों को सौंप रहे हैं। कुछ हेरिटेज शिल्प कला भावी पीढ़ी के लिए पहले ही खो चुके हैं। शिल्पकारों ने एक ओर अपनी आजीविका खोई है और दूसरी ओर अपने उत्पादों के लिए सही मूल्य पूछने की क्षमता। स्टॉक के भंडार के कारण यह कठिन समय आया है।

हमे आपको बताते हुए खुशी हो रही है कि राजस्थान के बुनाई कलाकारों के शिल्प कौशल को बेहतर बनाने और प्रदर्शित करने के लिए साधना गर्ग द्वारा क्यूरेट किया गया वीव वॉक का दूसरा संस्करण 10 सितंबर को होटल फेयरमौट में आयोजित होने जा रहा है। रघुकुल ट्रस्ट द्वारा आयोजित यह कार्यक्रम पर्यटन विभाग, राजस्थान द्वारा समर्थित है। विश्व स्तर पर संस्कृति के जार कहे जाने वाले और एशियाई हेरिटेज फाउंडेशन के अध्यक्ष, राजीव सेठी कीनोट एड्रेस दे रहे है।

कोविड-19 के बाद देश के अन्य हिस्सों से राजस्थान में हेरिटेज शिल्प कला ने बाजार का एक बड़ा हिस्सा खो दिया है जो पहले से ही संकट में था। महिलाओं के स्वामित्व वाले व्यवसाय, विशेष रूप से हस्तशिल्प खंड जहां महिलाओं की भारी उपस्थिति थी पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। यह जानकारी प्रमुख सचिव, पर्यटन विभाग गायत्री राठौर ने आज दी।

साधना गर्ग, चेयरपर्सन रघुकुल ने बताया कि ट्रस्ट हमारी टैग लाइन “जीवित परंपराओं को बढ़ावा देना“ के अनुसार हम अपनी प्रदर्शन कला और शिल्प कला के व्यावसायीकरण से परे देखना चाहते हैं। हम स्थानीय शिल्प कला समुदायों को प्रोत्साहन प्रदान करें और ऐसा करते हुए “ इंक्लूसिव पर्यटन“ को बढ़ावा देना चाहते है। हम वीव वॉक में उन हेरिटेज स्थलों को प्रदर्शित करेंगे जो कम प्रचलित हैं। बॉलीवुड फेम कोरियोग्राफर शाय लोबो, जो अजमेर से है और मनीष मल्होत्रा के शो भी करते हैं, इस इवेंट को कोरियोग्राफ हैं। शो की स्टाइलिस्ट जयपुर निवासी संध्या होंगी। जयपुर की 40 प्रमुख महिलाओं के साथ शिल्प कलाकार रैंप वॉक करेंगे।

महिला जयपुराइट राजस्थान के आठ जिलों से बनवाई गई साड़ीयों में रैंप वॉक करेंगी जो अपने आप में हेरिटेज और कला का जीवंत उद्धरण है, जैसे पट्टू, आवा, रासिका रेड, इंडिगो, बधरू, कोटा जरी, मोजामाबाद, अजरक आदि। वॉक पेशेवर मॉडल द्वारा नहीं बल्कि जयपुर हेडलाइनर्स द्वारा होगी, जैसे डॉक्टर, शिक्षाविद, गृहिणी, उद्यमी, इंजीनियर, डिजाइनर, डिजिटल रणनीतिकार। शो में हेरिटेज सिंगर लोक संगीत की प्रस्तुति भी देंगे। ऐसा करने से कारीगर और कलाकार के समुदायों पर ध्यान केंद्रित होगा व साथ ही पधारो म्हारे देस से लोग प्रभावित होंगे।
 

Written by CITY NEWS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

एक अक्टूबर से जयपुर एयरपोर्ट से शुरू होंगी पांच नई उड़ानें, देखे कहां के लिए होगी फ्लाइट्स उड़ान

चिकित्सा प्रभारी ने सूनी ग्रामीणों की समस्याएं, सुझाव पर दिया व्यवस्थाओ सुधार एवं विस्तार का आश्वासन