in ,

राजस्थान बीजेपी कार्यसमिति की बैठक वसुंधरा राजे ने बीच में छोड़ी, भाषण भी नहीं दिया- आखिर क्यों

कोटा । राजस्थान के कोटा में आयोजित बीजेपी की कार्यसमिति की बैठक (BJP working committee meeting held in Rajasthan’s Kota) में प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया से लेकर पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे समेत तमाम पार्टी पदाधिकारी शामिल (From state president Satish Poonia to former chief minister Vasundhara Raje, all party officials were involved.) हुए। लेकिन वसुंधरा राजे का बीच बैठक से चले जाना सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बन गया है। कार्यसमिति के दूसरे सत्र में वसुंधरा राजे का उद्बोधन होना था। लेकिन बताया जा रहा है कि इससे पहले ही वसुंधरा राजे मंच छोड़ कर चली गई।

यहां बुधवार को राजस्थान बीजेपी कार्यसमिति की कोटा में एक दिवसीय बैठक बुलाई गई थी। इस बैठक में सतीश पूनिया, प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह, वसुंधरा राजे, गुलाबचंद कटारिया, राजेंद्र राठौड़, कैलाश चौधरी कनकमल कटारा आदी शामिल हुए। इस बैठक में कुल तीन सत्र हुए। दूसरे सत्र में वसुंधरा राजे का संबोधन होना था। लेकिन वसुंधरा राजे संबोधन से पहले ही चली गई। ऐसे में सियासी गलियारों में इस बात को लेकर चर्चा शुरु हो गई है कि आखिर वसुंधरा राजे का संबोधन क्यों नहीं हुआ। और वसुंधरा राजे अपना भाषण दिए बिना ही बीच सत्र से क्यों चली गई।

कोटा में हुई बीजेपी की इस कार्यसमिति की बैठक में वसुंधरा राजे के समर्थक माने जाने वाले लोगों और पार्टी पदाधिकारियों के बीच धक्का मुक्की भी हुई है। हालांकि अभी तक इस पर स्पष्ट नहीं हो रहा है। 

आयोजन स्थल के गेट पर पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष प्रहलाद पवार समर्थक और दूसरे गुट के बीच जमकर हंगामा हुआ। उनको गेट में एंट्री नहीं मिली तो उनके साथ के लोग भड़क गए और यहां जमकर हंगामा हुआ। प्रहलाद पंवार को वसुंधरा राजे का समर्थक माना जाता है। वहां मौजूद लोगों के बीच गाली गलौच भी हुई है।

आपको बता दें कि बीजेपी प्रदेश कार्यसमिति की इस बैठक में 2023 के विधानसभा चुनावों को लेकर मंथन हुआ है। जिसमें 14 वक्ताओ ने भाग लिया, 27 लिखित सुझाव आए, जिसमें प्रदेश कांग्रेस सरकार के खिलाफ ब्लेक पेपर जारी किया गया। इसके अलावा अब तक जो चुनाव हुए है, उसमें पार्टी ने कैसा प्रदर्शन किया है और किन चुनावों में कैसा परिणाम रहा। जिन चुनावों में पार्टी को हार का सामना करना पड़ा उसके क्या कारण रहे। ऐसे तमाम मुद्दों पर चर्चा हुई।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अलवर में CGST के दो अधिकारी 4 लाख की रिश्वत लेते ACB ने पकड़े

झालावाड़ दौरे पर वसुंधरा राजे ने विधानसभा चुनाव 2023 को लेकर कहीं ये बड़ी बात