in

ओवैसी की सियासत से अशोक गहलोत सर्तक, कांग्रेस ने ओवैसी के काट के लिए अब अल्पसंख्यको पर फोक्स

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) चुनावी मोड़ पर है। सीएम गहलोत ने अल्पसंख्यक वोट छिटक न जाए, इसके लिए मुस्लिम बाहुल्य इलाकों पर फोकस करना शुरू कर दिया है। सीएम गहलोत अल्पसंख्यकों के विकास से जुड़े फैसले ले रहे हैं। अल्पसंख्यकों को थामे रखने के लिए सीएम गहलोत ने बीते दो महीने में 150 करोड़ रुपये की योजनाओं को मंजूरी दी है। मदरसों के आधुनिकीकरण से लेकर अहम योजनाओं को मंजूरी दी है। कांग्रेस के थिंक टैंक ओवैसी की काट के लिए मुस्लिम इलाकों पर फोकस Focus on Muslim areas to kill Owaisi) कर रहे हैं।

बता दें, ओवैसी ने राजस्थान के मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में प्रचार किया था। जयपुर और शेखावाटी अंचल में जनसभाएं कर कांग्रेस को निशाने पर लिया। ओवैसी का मुख्य फोकस मुस्लिम बाहुल्य इलाकों पर है। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी की काट के लिए सीएम गहलोत सक्रिय हो गए है।

उल्लेखनीय है कि ओवैसी ने राजस्थान में पिछले दौरे के समय आरोप लगाए थे कि राजस्थान में मुस्लिम आबादी के लिए सीएम गहलोत अपने बजट में 100 करोड़ का प्रावधान भी नहीं कर पाए। इसके बाद सीएम गहलोत ने पिछले डेढ़ महीने के दौरान 150 करोड़ से अधिक घोषणाए कर दी। कांग्रेस के थिंक टैंक अल्पसंख्यकों को थामने के लिए मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में कांग्रेस की नीति और सिद्धांतों की जानकारी देने की योजना पर भी काम कर रहे हैं।

दरअसल, कांग्रेस के रणनीतिकारों को इस बात की चिंता है कि ओवैसी कहीं खेल न बिगाड़ दें। इसी की काट के तहत सीएम गहलोत अल्पसंख्यकों के विकास से जुड़ी योजनाओं को मंजूरी दे रहे हैं। गहलोत ने हाल ही में प्रदेश के विभिन्न मदरसों के आधुनिकीकरण के लिए 24. 84 करोड़ रुपये स्वीकृत किए है। इस स्वीकृति से प्रदेश के विभिन्न मदरसों को कम्प्यूटराइज कर तथा फर्नीचर व अन्य सुविधाओं का विस्तार कर उन्हें और अधिक सुदृड़ किया जा सकेगा। इससे पहले सीएम गहलोत ने प्रदेश के 500 मदरसों में स्मार्ट क्लास चलाने के लिए 13.10 करोड़ रुपये देने की घोषणा की थी।

राजस्थान में विधानसभा चुनाव 2023 में होने हैं। सभा राजनीतिक दल चुनावी रणनीति बना रहे हैं। कांग्रेस की सबसे बड़ी चिंता ओवैसी फैक्टर को रोकने की की है। राजनीतिक हलकों में सवाल उठने लगा है कि ओवैसी कांग्रेस के वोट बैंक में सेंध लगा कर उनका खेल बिगाड़ेंगे। राजस्थान में 18 जिलों की करीब 40 सीटों पर औवैसी की नजर है।  राजस्थान में 2011 की जनगणना में मुस्लिम जनसंख्या 9 प्रतिशत से ज्यादा थी। ऐसा माना जा रहा है, 2023 विधानसभा चुनाव तक इसमें 2 से 3 फीसदी का इजाफा हो जाएगा। 11 से 12 फीसदी मुस्लिम जनसंख्या का अनुमान है।
 

Written by CITY NEWS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बाड़मेर: सड़क हादसे में BSF के दो जवानों की मौत, पांच की हालत गंभीर, ट्रक की ट्रेलर से हुई जोरदार भिड़ंत

राजस्थान : वनपाल भर्ती परीक्षा कल, रोडवेज बसों में परीक्षार्थियों को फ्री यात्रा