in ,

Kota : बालिका की हत्या का आरोपी Tuition Teacher महिला का वेशधारण कर भागता रहा, पुलिस ने ऐसे किया गिरफतार

कोटा, (अनुभव मित्तल)। नाबालिग छात्रा की हत्या (murder of minor girl) के आरोपी कोचिंग टीचर गौरव जैन (Accused coaching teacher Gaurav Jain) को आखिरकार कोटा सिटी पुलिस (Kota City Police) ने मंगलवार को गिरफ्तार कर वारदात का खुलासा किया (Arrested and disclosed the incident) है। आरोपी ट्यूशन टीचर (Accused Tuition Teacher) ने नाबालिग छात्रा के साथ हैवानियत करने का प्रयास किया (Tried cruelty with minor girl)। लेकिन बालिका ने जोरदार विरोध किया, विरोध के कारण आरोपी अपने नापाक मंसूबे में कामियाब नही हुआ तो उसने बालिका को मौत के घाट उतार दिया। 

Accused tuition teacher police arrested like this

वारदात के बाद आरोपी टीचर(Accused Tuition Teacher) कोटा से स्कुटी लेकर केशोरायपाटन चला गया और स्कुटी यहां छोड़ कर के0 पाटन से भेष बदलकर वापस कोटा आ गया और कोटा से अन्य स्थानों पर होता हुआ हरियाणा के गुरुग्राम तक पहुंच गया, जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी से पूछताछ जारी है। आरोपी ट्यूशन टीचर को बुधवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।

कोटा शहर एसपी केशर सिंह शेखावत ने बताया कि नवीं कक्षा में पढ़ने वाली नाबालिग छात्रा की रस्सीयों से गला एवं हाथ पैर बांधकर हत्या कर देने की गंभीर वारदात को देखते हुए कोटा रेंज के आईजी रविदत्त गौड़ के निर्देश कोटा शहर पुलिस अधीक्षक केसर सिंह के नेतृत्व में 4 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, 6 पुलिस उपाधीक्षक, 10 पुलिस निरीक्षक रैंक के अधिकारियों से लगभग 150 पुलिसकर्मियों की टीम का गठन कर Accused Tuition Teacher की तलाश शुरू की गई। पुलिस ने दिन-रात एक करते हुए अथक प्रयास कर 10 दिन बाद प्रकरण में अभियुक्त गौरव जैन को गुरुग्राम से गिरफ्तार करने में सफलता अर्जित की है।

शहर के रामपुरा थाना इलाके में 15 वर्षीय नाबालिग बालिका की हत्या के मामले में फरार चल रहा ट्यूशन टीचर गौरव जैन बेहद शातिराना तरीके से अपनी स्कूटी को केशोरायपाटन इलाके में छोड़ कर वापस कोटा आया और बाल कटवार महिला का भेष बनाकर बस सेे यूपी, बिहार,  दिल्ली, उत्तराखंड होता हुआ हरियाणा से गुरुग्राम की तरफ फरार हो गया था। जहां सूचना पर पहले तैयार खडी पुलिस ने उसकी बहन के घर पहुंचते ही उसे गिरफतार कर लिया। 

एसपी ने कहा कि Accused Tuition Teacher क्रिमिनल माइंड से था और उसने वारदात की प्लानिंग एक दिन पहले ही कर ली थी। आरोपी ने इसके लिए एक दिन पहले ही लड़की के नाम से एक टिकट कोटा से हरिद्वार का बुक किया था। साथ ही उसकी पूरी योजना रविवार को सेक्सुअल एसॉल्ट करने की थी। आरोपी ट्यूशन टीचर गौरव जैन ने दुष्कर्म का प्रयास किया और इसी का विरोध बालिका ने किया। इसमें नाकामयाब होने के बाद ही उसने नाबालिग बालिका की हत्या कर दी।

घटनाक्रम के अनुसार 13 फरवरी को बालिका गौरव जैन के घर ट्यूशन पढ़ने गई थी दोपहर 12ः30 बजे गौरव जैन ने बालिका के घर फोन कर कहा कि दोपहर 1 बजे बालिका फ्री हो जाएगी आप इसे ले जाना, 1 बजे उसे लेने जब परिजन गए तो मेन गेट पर कुंडी लगी हुई मिली। कुंडी को खोलकर देखा तो सभी कमरों में ताले लगे मिले। ऊपर दूसरी मंजिल पर जाकर देखा तो वहां भी ताले लगे हुए थे। लेकिन एक कमरे के बाहर बालिका की चप्पल नजर आई तो उसके बाद शक होने पर कमरे का ताला तोड़कर अंदर गए तो देखा के बालिका अचेत अवस्था में जमीन पर पड़ी थी, उसके गले पर रस्सी लिपटी हुई थी दोनों हाथ पैर रस्सीयों से बंधे हुए थे। बालिका के परिजनों ने रस्सी खोली व काटी। बालिका के छाती पैर और नाक पर चोट के निशान थे। उसे अस्पताल लेकर पहुंचे उसे मृत घोषित कर दिया।

बालिका की हत्या खबर कोटा शहर में आग की तरह फैल गई और व्यापारियों ने तुरंत ही बाजार बंद करवा दिए। अगले दिन गिरफ्तारी की मांग करते हुए बाजार बंद रखकर थाने के बाहर धरना लगाकर विरोध प्रदर्शन किया गया। यहां कांग्रेस और भाजपा नेताओं ने भी घटना को लेकर गहरी नाराजगी व्यक्त की। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने अलग-अलग टीमों का गठन कर आरोपी की तलाश शुरू की। 

यह भी पढ़ेः-नाबालिग छात्रा की हत्यारोपी Tuition Teacher गुरुग्राम से किया गिरफ्तार, वारदात के बाद 10वें दिन Kota पहुंचेगा आरोपी

इधर, आरोपी की गिरफ्तारी की मांग को लेकर कोटा व्यापार महासंघ ने एक दिन कोटा शहर बंद का आह्वान भी किया। इसके तहत एक दिन बाजार बंद रहे, आवश्यक सेवाएं चालू रही। लेकिन कोटा शहर पुलिस लगातार मुस्तैदी से जुटी रही। कोटा संसदीय क्षेत्र के सांसद ओम बिरला एवं स्वायत्त शासन मंत्री शांति कुमार धारीवाल बालिका के परिजनों को सांत्वना देते हुए अधिकारियों से घटना को लेकर पल-पल का फीडबैक लेते रहे। 

Written by CITY NEWS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पशुपालन विभाग के तीन अधिकारियों को उदयपुर ACB की टीम ने 1.60 लाख रुपए की रिश्वत लेते किया गिरफ्तार

दौसा जिले के गांव बगड़ी में 135 बीघा चरागाह भूमि से फसल नष्ट पर हटाया अतिक्रमण