in

बूंदी: नगर परिषद के पार्षद रोहित बैरागी डेढ़ लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार, एसीबी कोटा की स्पेशल यूनिट ने कि कार्यवाही

बूंदी। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो कोटा की स्पेशल यूनिट (Anti-Corruption Bureau Kota Special Unit) ने मंगलवार को बूंदी में कार्यवाही करते हुए नगर परिषद के वार्ड नंबर 1 से पार्षद रोहित बैरागी को डेढ़ लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया (Councilor Rohit Bairagi was arrested red handed taking a bribe of one and a half lakh rupees from ward number 1 of the city council.) है। कोटा ACB की स्पेशल टीम ने कार्रवाई करते हुए बैरागी को शहर के चौगान गेट स्थित चूड़ी बाजार की एक दुकान से रिश्वत की राशि लेतेे हुए पकड़ा, इसके बाद कोटा एसीबी द्वारा सिटी कोतवाली में लाकर पार्षद से पूछताछ की गई। बैरागी पिछले 1 महीने से एसीबी की राडार पर था। 

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के महानिदेशक बीएल सोनी ने बताया कि ACB की स्पेशल यूनिट कोटा इकाई को परिवादी भंवर त्रिभुवन सिंह हाडा द्वारा शिकायत दी गई कि स्ट्रीप ऑफ लैंड में मकान का निर्माण करने देने व परेशान नहीं करने की एवज में पार्षद रोहित बैरागी निवासी बालचंद पाड़ा द्वारा स्वयं के लिए एक लाख रूपये एवं नगर परिषद सभापति के नाम पर 50 हजार रूपये कुल 1 लाख 50 हजार की रिश्वत की मांग कर परेशान कर रहा है।

जिस पर ACB कोटा के पुलिस अधीक्षक आलोक श्रीवास्तव के सुपर विजन में ACB स्पेशल यूनिट कोटा इकाई के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय स्वर्णकार के नेतृत्व में शिकायत का सत्यापन किया गया। जिस पर मंगलवार को ACB के पुलिस उप अधीक्षक धर्मवीर सिंह व पुलिस निरीक्षक रमेश चंद्र आर्य एवं उनकी टीम के साथ बूंदी में ट्रेप की कार्यवाही करते हुए रोहित बैरागी निवासी बालचंदपाड़ा पार्षद वार्ड नंबर एक को परिवादी से प्राप्त डेढ़ लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। आरोपी की गिरफ्तारी के बाद बूंदी कोतवाली लाकर संपूर्ण कार्यवाही को अंजाम दिया।

इस साल जिले में एसीबी की यह 7वीं कार्यवाही
गौरतलब है कि भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो द्वारा इस साल बूंदी में यह सातवीं कार्यवाही की है। जिसके अनुसार इस साल 5 फरवरी को आबकारी निरीक्षक विनोद कुमार को 20.000 की रिश्वत लेते रेप किया था। वहीं उद्यान विभाग के सहायक निदेशक को ढाई लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों 14 फरवरी को पकड़ा था। इसके बाद एसीबी ने बिजली विभाग के कनिष्ठ अभियंता व ठेकेदार को 20.000 की रिश्वत लेते 21 फरवरी को टेप किया गया।

इसके बाद चौथी कार्यवाही में केंद्रीय सहकारी बैंक के शाखा प्रबंधक को 5000 की रिश्वत लेते 28 अप्रैल को रंगे हाथों पकड़े गये। इसके बाद 5 मई को विद्युत विभाग के कनिष्ठ अभियंता व लाइनमैन को 5000 की रिश्वत लेते एसीबी ने पकड़े गये। वही जलदाय विभाग के दो कनिष्ठ अभियंता 11500 की रिश्वत लेते 10 मई को गिरफतार किये गए। इस तरह आज सातवीं कार्यवाही में कांग्रेस के वार्ड नंबर 1 से पार्षद रोहित बैरागी डेढ़ लाख रुपए की रिश्वत लेते पकड़े गए हैं।

 

 

Written by CITY NEWS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जयपुर कांग्रेस मुख्यालय पर जन सुनवाई में पहुंचे शिक्षक, तृतीय श्रेणी शिक्षकों के स्थानान्तरण की मांग

बारां: बेटी को ससुराल नहीं भेजा तो पिता का अपहरण कर एमपी ले गए, पेड़ से बांधकर मारपीट की, तेज धूप में गर्म पत्थरों पर लेटाया, 6 गिरफतार