in , ,

महिला शक्ति के नाम रहा भारत जोड़ो यात्रा में सोमवार का दिन, खुलकर बात की और साथ चली महिलाएं

बूंदी/सवाई माधोपुर। बूंदी जिले से होकर सोमवार को कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा सवाई माधोपुर ज़िले में प्रवेश कर चुकी है (Congress’ Bharat Jodo Yatra has entered Sawai Madhopur district)। सोमवार को महिला शक्ति का प्रदर्शन करने के लिए सिर्फ़ महिलाएं राहुल गांधी के साथ चलीं (Only women walk with Rahul Gandhi in show of strength)। सुबह के सत्र में तेजाजी महाराज मंदिर से पीपलवाड़ा तक पदयात्रा में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, महिला कांग्रेस अध्यक्ष नेटा डिसूज़ा समेत हजारों महिलाएं शामिल हुईं। इस दौरान प्रसिद्ध कालबेलिया नृत्यांगना पद्मश्री गुलाबो सपेरा ने मनमोहन प्रस्तुति भी दी।

Monday's day in Bharat Jodo Yatra was in the name of women power, women spoke openly and walked together

सुबह के सत्र में चलते हुए राहुल गांधी ने मुख्य रूप से दो समूहों के साथ बातचीत की। पहली बातचीत भारत ज्ञान विज्ञान समिति के प्रतिनिधियों के साथ हुई। इन लोगों ने राहुल गांधी को केंद्र सरकार की नई शिक्षा नीति की खामियां बताई। उनका कहना था कि केंद्र सरकार शिक्षा का केंद्रीयकरण कर रही है जबकि इसका और विकेंद्रीकरण होना चाहिए। 

दूसरी बातचीत कोटा के किन्नर समाज के लोगों के साथ थी। उन लोगों ने बताया कि राजस्थान सरकार ने किन्नर समाज के उत्थान के लिए 10 करोड़ का बजट जारी किया है। बजट का ये पैसा सही तरीके से समाज के लोगों तक पहुंचे इसकी व्यवस्था की जानी चाहिए। साथ ही किन्नर समाज के उत्थान के लिए सरकार जो योजनाएं चलाती है, उन्हें लोगों तक पहुंचाने के लिए बेहतर ढंग से प्रचार प्रसार किया जाए। 

Monday's day in Bharat Jodo Yatra was in the name of women power, women spoke openly and walked together

सुबह 11 बजे कांग्रेस सांसद एवं पार्टी के संचार प्रभारी जयराम रमेश ने महिला जनप्रतिनिधियों और पार्टी के पदाधिकारियों के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के बाद आज राजस्थान में महिला शक्ति का प्रदर्शन करने के लिए सिर्फ़ महिलाएं राहुल गांधी के साथ चल रही हैं।

राज्य सरकार में महिला बाल विकास मंत्री ममता भूपेश ने बताया कि महंगाई की सबसे ज़्यादा मार महिलाओं पर पड़ती है। भारत जोड़ो यात्रा महंगाई के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने के लिए है। इसलिए राहुल गांधी के साथ महिलाएं कदम से कदम मिलाकर चल रही हैं। उन्होंने आगे कहा कि राजस्थान की कांग्रेस की सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए कई काम कर रही है। आई एम शक्ति उड़ान योजना के तहत महिलाओं को सैनेट्री पैड दिया जा रहा है। इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना के तहत 25 प्रतिशत सब्सिडी के साथ महिलाओं के लिए एक करोड़ तक लोन का प्रावधान है। ऐसी कई अन्य योजनाएं भी महिलाओं के लिए चलाई जा रही है।

राजस्थान राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष रेहाना रियाज ने कहा कि सांप्रदायिकता और बेरोज़गारी के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने के लिए आज बड़ी संख्या में महिलाएं राहुल गांधी के साथ चलीं। महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष नेटा डिसूजा ने बताया कि पंचायतों में 35 प्रतिशत आरक्षण देकर राजीव गांधी जी ने महिलाओं का राजनीतिक सशक्तिकरण किया। विधायक दिव्या मदेरणा ने कहा कि महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के बाद अब राजस्थान में एक दिन सिर्फ़ महिलाओं को यात्रा में चलने का मोका देना दिखाता है कि राहुल गांधी उन्हें राजनीतिक रूप से सशक्त करना चाहते हैं। मैं खुद राहुल गांधी जी की सोच की प्रोडक्ट हूं जिन्होंने मुझे टिकट देकर विधायक के रूप में सेवा का मौका दिया।

 बारां ज़िला प्रमुख उर्मिला जैन भाया और दौसा ज़िले के समलेटी ग्राम पंचायत की सरपंच रचना समलेटी ने बताया कि यदि राजीव गांधी पंचायतों में आरक्षण का प्रावधान नहीं करते तो वह चुनावी राजनीति में नहीं आ पातीं।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक सवाल के जवाब में जयराम रमेश ने कहा कि राजीव गांधी ने पंचायतों में एक तिहाई आरक्षण महिलाओं को दिया। जब मनमोहन सिंह जी की सरकार थी तब कांग्रेस पार्टी ने राज्य सभा में महिला आरक्षण बिल पास करवाया था। वह बिल आज भी लोकसभा में पड़ा हुआ है। मोदी सरकार को 8 साल साल हो गए। इन्होंने अभी तक इसे पारित करने का प्रयास नहीं किया। 

Monday's day in Bharat Jodo Yatra was in the name of women power, women spoke openly and walked together

राहुल गांधी ने महिला संगठनों के साथ बातचीत की
दोपहर में राहुल गांधी ने राजस्थान में महिलाओं के अधिकारों और कल्याण के लिए काम कर रहे 7 प्रमुख महिला संगठनों के साथ बातचीत की। इनमें दलित महिला मंच, आदिवासी महिला मंच, भेदभाव छुआछूत मुक्त अभियान, नेशनल मुस्लिम विमेन वेलफेयर सोसाइटी – जयपुर, महिला जन अधिकार समिति- अजमेर, मजदूर किसान शक्ति संगठन आदि के प्रतिनिधि थे। महिलाओं ने अशोक गहलोत सरकार की पहल की सराहना करते हुए और बेहतर करने के लिए कई सुझाव दिए। राहुल गांधी ने वहां मौजूद मुख्यमंत्री से अनुरोध किया कि बातचीत के दौरान जो मामले आए हैं उन पर शीघ्र कार्रवाई करें। राहुल ने राजनीतिक संस्थानों में महिलाओं के प्रतिनिधित्व को बढ़ाने की आवश्यकता को भी रेखांकित किया। 

Monday's day in Bharat Jodo Yatra was in the name of women power, women spoke openly and walked together

फुटबॉलर किशोरियां भी राहुल गांधी के साथ चलीं
शाम के सत्र में बड़ी संख्या में महिलाएं पदयात्रा में शामिल हुईं। इस दौरान अजमेर की फुटबॉलर किशोरियां भी राहुल गांधी के साथ चलीं। फुटबॉल इन लड़कियों के लिए आज़ादी का जरिया बना है। इसके माध्यम से इन्हें बाल विवाह जैसी अनेक सामाजिक कुरीतियों से लड़ने में मदद मिली है। पहले इन्हें घर से निकलने नहीं दिया जाता था। अजमेर की महिला जन अधिकार समिति किशोरियों के बीच इस खेल को प्रोत्साहित करती है।

Written by CITY NEWS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

राजस्थान ने रचा इतिहास: महिला शक्ति पदयात्रा में राहुल गांधी से मुलाकात कर साथ चली हजारों महिलाएं

बूंदी जिले से भारत जोड़ो यात्रा संपन्न, जिला कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने ली राहत की सांस