in

पशुपालन के लिए प्रत्येक किसान को मिलेगा 1.60 लाख का ऋण, हर घर को पशुपालन से जोड़ किसानों की आय बढ़ाएंगेः बिरला

कोटा। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Lok Sabha Speaker Om Birla) और केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी (Union Minister of State for Finance Pankaj Choudhary) ने शुक्रवार को बूंदी में पशुपालक किसानों के लिए ऋण वितरण अभियान (Loan distribution campaign for livestock farmers) का शुभारंभ किया। इस अवसर पर पुरानी कृषि उपज मंडी परिसर में आयोजित भव्य कार्यक्रम में पशुपालक किसानों को ऋण का चेक भेंट करते हुए लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने कहा कि किसान हमारा अन्नदाता (farmer our food provider) है। किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाना तथा उन्होंने संबल प्रदान करने के संकल्प को सिद्धी तक पहुंचाने के लिए हम सब सामूहिकता से प्रयास कर रहे हैं।

Every farmer will get 1.60 lakh loan for animal husbandry, will increase the income of farmers by connecting every house with animal husbandry: Birla

उन्होंने कहा कि हर घर से एक व्यक्ति को पशुपालन से जुड़ने के लिए हर पशुपालक को 1.60 लाख रूपए का ऋण बेहद सस्ती दर पर दिलाया जाएगा। दूध के साथ दूध के प्रोडक्ट्स को भी बढ़ावा दिया जाएगा। इसके लिए पशुपालन के साथ डेयरी स्थापित करने के लिए भी ऋण दिए जाएंगे। ऐसे किसान, नौजवान, खेतीहर मजदूर और महिलाएं जिनके पास स्वयं की जमीन नहीं है, यदि वे भी पशुपालन करना चाहते हैं तो उनके लिए भी ऋण की व्यवस्था की जाएगी।
उन्होंने कहा कि हम बूंदी को ऐसा एग्रीकल्चर हब बनाना चाहते हैं जो धान, सब्जियों और अन्य कृषि उत्पादों तथा विशिष्ट डेयरी प्रोडक्ट्स से विश्व में अपनी एक अनूठी पहचान बनाए। बूंदी में खाद्य प्रसंस्करण यूनिट्स की स्थापना के प्रयास किए जाएंगे ताकि कृषि और डेयरी उत्पादों में वैल्यू एडिशन कर हम किसानों को देश तथा अन्तर्राष्ट्रीय बाजारों में उनके प्रोडक्ट अच्छा दाम दिलवा सकें।

कम रकबे में ज्यादा फसल का प्रयास
स्पीकर बिरला ने कहा कि बदलते समय के अनुसार किसानों को आधुनिक और वैज्ञानिक कृषि की ओर जाना होगा। हम इसमें किसानों की मदद के लिए तैयार हैं। विशेषज्ञों को बूंदी लाकर उन्हें कम रकबे में अधिक उत्पादन प्राप्त करने के गुर सिखाए जाएंगे। महिलाओं को भी रोजगार से जोड़ने के लिए एसएसजी, युवा ओर फुटकर विक्रेताओं को भी ऋण देंगे। गांव के परम्परागत उद्योगों को भी प्रोत्साहन देंगे।

सभी को मिलेगी किसान क्रेडिट कार्ड
स्पीकर बिरला ने कहा कि पिछले दो माह से गांव-गांव में विशेष शिविरों का आयोजन किया जा रहा था। इसके बाद भी बहुत से पशुपालक अपना पंजीयन नहीं करवा पाए। एक बार फिर पंजीकरण शिविरों का आयोजन किया जाएगा जिनमें पटवारी, पशुचिकित्सक, बैंक के अधिकारी भी होंगे। इन शिविरों के माध्यम से सभी पात्र पशुपालक किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड दिलवाए जाएंगे।

Every farmer will get 1.60 lakh loan for animal husbandry, will increase the income of farmers by connecting every house with animal husbandry: Birla

अब किसानों और गरीबों के लिए जारी पूरी राशि खाते में पहुंचती हैः चौधरी
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने कहा कि गरीब और किसानों की दशा सुधारने के काम सिर्फ भाजपा के शासन में हुआ। पहले केंद्र से 1 रूपए चलता था तो 15 पैसे ही गरीब के खाते में पहुंचता था। लेकिन पीएम मोदी के राज में अब पूरा एक रूपया गरीब और किसान के खाते में पहुंच रहा है।

उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा प्रारंभ हुई। पीएम नरेंद्र मोदी ने कृषि सुधारों तथा किसानों के कल्याण की उस परम्परा को न सिर्फ आगे बढ़ाया बल्कि मजबूत भी किया। उन्होंने कहा कि किसानों और पशुपालकों को बिना गारंटी 1.6 लाख का ऋण दिया जा रहा है। 3.47 करोड़ आवेदनों में से 3.17 करोड़ आवेदनों को स्वीकृति जारी कर किसानों को ऋण जारी कर दिए गए हैं। किसान क्रेडिट कार्ड जारी किए जाने की प्रक्रिया को सरल बना अब आवेदन के 14 दिन में कार्ड जारी किया जा रहा है।

पीएम मोदी के नेतृत्व में खेती-किसानी की लागत घटाने तथा किसानों और पशुपालकों को उत्पादन का पूरा दाम दिलाने के लिए अनेक क्रांतिकारी निर्णय किए गए हैं। एमएसपी बढ़ाने और किसान बीमा योजना जैसे क्रांतिकारी कदमों के साथ अनेक योजनाएं भी कृषकों के कल्याण के लिए प्रारंभ की गईं। पशुओं में बीमारियों की रोकथाम के लिए पहली बार राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है। देशी नस्लों के संरक्षण और संवर्धन किया जा रहा है। सोयल हेल्थ कार्ड का लाभ 22 करोड़ से अधिक किसानों को लाभ मिल रहा है। नीम कोटेड लाकर यूरिया की कालाबाजारी समाप्त करवा दी। आज किसानों को यूरिया आसानी से उपलब्ध है। इन सब प्रयासों से किसान सशक्त हुआ है।

बिरला पूरे राजस्थान की चिंता कर रहे हैं
वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने कहा कि देश में लोकतंत्र को सशक्त करने के साथ ही स्पीकर बिरला पूरे राजस्थान के किसानों की चिंता कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जयपुर से बूंदी तक आने के दौरान रास्ते भर बिरला केंद्र की योजना को और मजबूती से राजस्थान में लागू करने पर बल देते रहे।

पीएम मोदी के राज में किसान हुए मजबूतः डोगरा
बूंदी विधायक अशोक डोगरा ने कहा कि किसानों को मजबूत करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में अनेक कल्याणकारी योजनाएं लागू की गई हैं। फसल बीमा, किसान कल्याण निधि, एमएसपी में सहित अनेक कल्याणकारी कार्य हो रहे हें। उसी तरह स्पीकर बिरला भी सम्पूर्ण संसदीय क्षेत्र में विकास को नए आयाम देने के लिए पूरी प्रतिबद्धता से कार्य कर रहे हैं।

किसानों को मिले पशु बीमा का लाभः चंद्रकांता
केशवरायपाटन विधायक चंद्रकांता मेघवाल ने कहा कि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने पशु पालकों को सस्ती दर पर ऋण दिलवाकर उनके परिवारों के लिए समृद्धि की नई राह खोली है। प्रधानमंत्री मोदी भी के प्रयासों ने किसानों के जीवन को सम्मानजनक बनाया है। लेकिन हमें पशुपालकों के लिए भी पशु बीमा योजना पर काम करने की आवश्यकता है। प्रदेश के सभी जिलों के पशुपालकों को इसका लाभ नहीं मिल रहा है। इस कारण हादसे या अन्य कारणों से पशुओं की मृत्यु पर पशुपालक किसानों को मुआवजा नहीं मिल पा रहा।

यह भी रहे कार्यक्रम में उपस्थित
कार्यक्रम में रामगंजमंडी विधायक मदन दिलावर, कोटा दक्षिण विधायक संदीप शर्मा, भाजपा बूंदी जिलाध्यक्ष छीतरलाल राणा, नगर अध्यक्ष सुरेश अग्रवाल, मंडल अध्यक्ष महावीर खंगार, पार्षद जितेंद्र सिंह हाड़ा, मानस जैन, मोहनलाल किराड़, निर्मल मालव, महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष नुपुर मालव सहित बड़ी संख्या में प्रबुद्धजन और सामाजिक कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

 

Written by CITY NEWS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बेटी हुई तो नवजात को तीसरी मंजिल से नीचे फेंका, खून से सना मिला शव, पुलिस जांच में जुटी

बाड़मेर में बाजरे की फसल को किसानो बनाया बड़ी आमदनी का जरिया, कई प्रोडक्ट मार्केट में बना रहे मजबूत पकड़